📢 भारतीय स्वतंत्रता के 75 साल – Essay on 75 years of Indian Independence in Hindi
🔥 Join eWritingCafe Telegram for latest Essay topics
🔥Essay on Freedom Fighters for Students and Children

अपने आसपास की सफाई निबंध (Apne Aaspass Saaf Safai Essay in Hindi)

👀 “अपने आसपास की सफाई निबंध हिंदी में” पर लिखा हुआ यह निबंध (Apne Aaspass Saaf Safai Essay in Hindi ) आप को अपने स्कूल या फिर कॉलेज प्रोजेक्ट के लिए निबंध लिखने में सहायता कर सकता है। आपको हमारे इस वेबसाइट पर और भी कही विषयों पर हिंदी में निबंध मिलेंगे (👉 निबंध सूचकांक), जिन्हे आप पढ़ सकते है, तथा आप उन सब विषयों पर अपना निबंध लिख कर साझा कर सकते हैं


अपने आसपास की सफाई पर निबंध
Apne Aaspass Saaf Safai Essay in Hindi
अपने आस-पास सफाई कैसे रखें


🧹 अपने आसपास की सफाई निबंध हिंदी में (Apne Aaspass Saaf Safai Essay in Hindi) पर यह निबंध class 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12 कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए और अन्य विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए लिखा गया है।

अपने आसपास की सफाई निबंध हिंदी में (Apne Aaspass Saaf Safai Essay in Hindi) प्रारूप १


प्रस्तावना

स्वच्छता हमारे जीवन की एक अहम आवश्यकता है। यह इतनी आवश्यक इसीलिये है क्योंकि इसी पर हमारा शारीरिक स्वास्थय व मानसिक संबल निर्भर व प्रभावित होता है। इसके अलावा हमने पढ़ा होगा कि आसपास के वातावरण का प्रभाव हमारे मन-मस्तिष्क पर पड़ता ही है। इसीलिये यह आवश्यक है कि हम अपने आसपास मौजूद वातावरण को नियमित स्वच्छ बनाएं रखें। आइये अब स्वच्छता बनाये रखने और इसके लाभों व महत्व पर कुछ थोड़ी बातें जानते हैं।


स्वच्छता का महत्व

स्वच्छता का महत्व अधिकांश जन जानते तो हैं, पर वे इस पर अमल नहीं करते। स्वच्छता का हमारे शरीर व मन पर सकारात्मक प्रभाव होता है। यह एक प्रकार स्वस्थ व सुखमय जीवन का अभिन्न अंग है। जब कभी हमारे आसपास की वस्तुएं अव्यवस्थित और अस्वच्छ होती हैं तो हमारे विचार स्वत: ही निराशा से भरे और गलत होने लगते हैं। इसके विपरीत एक साफ-सुथरे स्थान पर जहाँ चीजें व्यवस्थित रूप से रखी गयी हैं, वहाँ हमारे मन को प्रफुल्लित और अच्छे विचारों से पूरित रहने में सहायता मिलती है।

स्वस्थ और सुखी जीवन जीने के संबंध में स्वच्छता अत्यंत उपयोगी है। यह हमारे व्यक्तित्व पर, और सम्पूर्ण जीवनशैली पर अपनी छाप छोड़ती है। उदाहरण के लिये- यदि कोई व्यक्ति को किसी गंदी जगह या धूल आदि से भरे स्थान पर रहने का आदी हो तो उसे स्वच्छ जगह अच्छी नहीं लगेगी। वह अस्वच्छ स्थान उस पर अपनी छाप छोड़ देता है। लेकिन निरंतर अभ्यास से हम अपनी ऐसी गलत आदतों से छुटकारा भी पा सकते हैं।


आसपास की सफाई में मददगार महत्वपूर्ण बिंदू

  1. सर्वप्रथम तो साफ-सफाई का एक समय नियत होना चाहिए। यदि यह थोड़ी मुश्किल हो तो कम-से-कम प्रतिदिन एक बार तो साफ-सफाई करनी ही चाहिए।
  2. अपने आसपास की जगहें जैसे सोने का कमरा, पढ़ने का स्थान, घर का आंगन आदि जगहों पर एक उचित व्यवस्था बनानी चाहिए।
  3. वस्तुएं यदि व्यवस्थित होंगी तो नियमित साफ-सफाई में सहायक और अधिक फायदेमंद होंगी।
  4. हमें यह भी निश्चित करना चाहिए कि सप्ताह में एक बार ऐसी जगहों की साफ-सफाई अवश्य हो जहाँ हमारा अधिक समय व्यतीत नहीं होता है।
  5. घर के मुख्य कूडेदान के अलावा एक छोटा सा कूड़ादान हमें घर के भीतर भी रखना चाहिए जिससे खराब कागज, अखबार, सब्जियों के छिलके आदि वस्तुएं तत्समय रखी जा सकें।
  6. किसी धूल भरे स्थान की सफाई के लिये पहले उसे झाड़ू से बुहारना चाहिए फिर पानी से छिड़काव करना चाहिए।

स्वच्छ भारत- स्वस्थ भारत मिशन में योगदान

यदि हम जागरुक रहकर अपने आसपास के वातावरण को साफ बनाये रखते हैं, तो यह अन्य लोगों को भी प्रेरित करता है। वे भी स्वच्छता का सही अर्थ समझते हैं और उसका पालन करने के लिये अपने कदम बढ़ाते हैं। भारतीय सरकार के द्वारा चलाया गया अभियान स्वच्छ भारत मिशन इस संबंध में बेमिसाल है। इसके माध्यम से हर व्यक्ति स्वच्छता के लिये अपनी ओर कुछ भी कार्य करता है। चाहे वह अपने घर की चौखट को स्वच्छ रखना हो या हरे और नीले डिब्बे का इस्तेमाल से गीले व सूखे कचरे का प्रबंधन करना हो।

हम यह अनुभव भी करते हैं कि आरंभ में इस तरह के बदलावों से हमें तकलीफें होती हैं किन्तु इसके बावजूद ऐसे छोटे-छोटे बदलाव लंबे समय में अपनी अहमियत दर्शा देते हैं। इससे हमारी अपनी समझ व स्वास्थय में इजाफा होता है साथ ही हम दूसरों पर भी सकारात्मक प्रभाव डालते हैं। तन, मन व वातावरण तीनों परस्पर एक-दूसरे से प्रभावित होते ही रहते हैं। इसीलिये स्वच्छता खुशहाल जीवन की चाबी है।


उपसंहार

स्वच्छता रखना एक अंतिम परिणाम या निष्कर्ष नहीं है। बल्कि इसे तो हमारे नियमित जीवन का अभिन्न हिस्सा होना चाहिए। यह स्वास्थय और जागरुकता का आधार है। स्वच्छ पर्यावरण में ही स्वच्छ वायु बह सकती है। जो हमारे शरीर की अहम जरूरत है। शरीर के स्वस्थ होने और सहज होने से मन भी अपने खुश और प्रसन्नता से रहता है। इन सबका आधार एक स्वच्छ जीवनशैली व वातावरण से ही आता है। आशा है कि आप समझे होंगे और अपने जीवन में स्वच्छता लाने वाले छोटे-छोटे कदम भी अवश्य उठाएंगे। 

👉 यदि आपको यह लिखा हुआ अपने आसपास की सफाई निबंध हिंदी में (अपने आसपास की सफाई निबंध हिंदी में (Apne Aaspass Saaf Safai Essay in Hindi) प्रारूप १ पसंद आया हो, तो इस निबंध को आप अपने दोस्तों के साथ साझा करके उनकी मदद कर सकते हैं |


अपने आसपास की सफाई निबंध हिंदी में (Apne Aaspass Saaf Safai Essay in Hindi) प्रारूप २

Upcoming…

👉 यदि आपको यह लिखा हुआ अपने आसपास की सफाई निबंध हिंदी में (Apne Aaspass Saaf Safai Essay in Hindi) प्रारूप २ पसंद आया हो, तो इस निबंध को आप अपने दोस्तों के साथ साझा करके उनकी मदद कर सकते हैं |


👉 आप नीचे दिये गए छुट्टी पर निबंध पढ़ सकते है और आप अपना निबंध साझा कर सकते हैं |

छुट्टी पर निबंध
लॉकडाउन में मैंने क्या किया पर निबंधछुट्टी का दिन पर निबंध
गर्मी की छुट्टी पर निबंधछुट्टी पर निबंध
ग्रीष्म शिविर पर निबंधगर्मी की छुट्टी के लिए मेरी योजनाएँ पर निबंध
@ अपने आसपास की सफाई निबंध हिंदी में (Apne Aaspass Saaf Safai Essay in Hindi) पृष्ठ


विनम्र अनुरोध: 

आशा है आप इसे पढ़कर लाभान्वित हुए होंगे। आप से निवेदन है कि इस निबंध अपने आसपास की सफाई निबंध हिंदी में (Apne Aaspass Saaf Safai Essay in Hindi) में आपको कोई भी त्रुटि दिखाई दे तो हमें ईमेल जरूर करे। हमें बेहद प्रसन्नता होगी तथा हम आपके सकारात्मक कदम की सराहना करेंगे। हम आपके लिये भविष्य में इसी प्रकार अपने आसपास की सफाई निबंध हिंदी में (Apne Aaspass Saaf Safai Essay in Hindi) की भाँति अन्य विषयों पर भी उच्च गुणवत्ता के सरल और सुपाठ्य निबंध प्रस्तुत करते रहेंगे।

यदि आपके मन में इस निबंध (Apne Aaspass Saaf Safai Essay in Hindi) को लेकर कोई सुझाव है या आप चाहते हैं कि इसमें कुछ और जोड़ा जाना चाहिए, तो इसके लिए आप नीचे Comment सेक्शन में आप अपने सुझाव लिख सकते हैं आपकी इन्हीं सुझाव / विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मौका मिलेगा |


🔗 यदि आपको यह लेख अपने आसपास की सफाई निबंध हिंदी में (Apne Aaspass Saaf Safai Essay in Hindi)  अच्छा लगा हो इससे आपको कुछ सीखने को मिला हो तो आप अपनी प्रसन्नता और उत्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को निचे दिए गए Social Networks लिंक का उपयोग करते हुए शेयर (Facebook, Twitter, Instagram, LinkedIn, Whatsapp, Telegram इत्यादि) कर सकते है | भविष्य में इसी प्रकार आपको अच्छी गुणवत्ता के, सरल और सुपाठ्य हिंदी निबंध प्रदान करते रहेंगे।

अपने दोस्तों को share करे:

Leave a Comment

X