📢 भारतीय स्वतंत्रता के 75 साल – Essay on 75 years of Indian Independence in Hindi
🔥 Join eWritingCafe Telegram for latest Essay topics
[Essay On 75th Independence Day Of India] [Azadi Ka Amrit Mahotsav Essay in English]

Nari samman essay in hindi (नारी का सम्मान पर निबंध)

ajax loader

👀 “Nari samman essay in hindi (नारी का सम्मान पर निबंध)” पर लिखा हुआ यह निबंध आप को अपने स्कूल या फिर कॉलेज प्रोजेक्ट के लिए निबंध लिखने में सहायता कर सकता है। आपको हमारे इस वेबसाइट पर और भी कही विषयों पर हिंदी में निबंध मिलेंगे (👉 निबंध सूचकांक), जिन्हे आप पढ़ सकते है, तथा आप उन सब विषयों पर अपना निबंध लिख कर साझा कर सकते हैं

Nari samman essay in hindi (नारी का सम्मान पर निबंध)

Nari samman essay in hindi (नारी का सम्मान पर निबंध)

नारी का सम्मान पर निबंध
Nari samman essay in hindi 

🎃 Nari samman essay in hindi (नारी का सम्मान पर निबंध) पर यह निबंध class 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12 कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए और अन्य विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए लिखा गया है।

प्रस्तावना :

आज हर क्षेत्र में नारियों की भागीदारी बढ़ती देखी जा रही है। वह पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर आगे बढ़ रही है। आज महिलाएँ ज़मीन और अंतरिक्ष तक पुरुषों से कंधे से कंधा मिलाकर चल रही हैं और हमारे देश का नाम भी रोशन कर रही है। मगर एक दुखद पहलू ये भी है कि देश के कुछ हिस्सों में आज भी महिलाओं को कम तर ही आंका जाता है। उनके सम्मान प्रतिष्ठा की भी चिंता नहीं कि जाति है।

कुछ संकीर्ण मानसिकता वाले लोग कामकाजी महिलाओं का सम्मान नहीं करते हैं। जबकि नारी का सम्मान (Nari ka samman) तो हर किसी की पहली प्राथमिकता और धर्म होनी चाहिए। चलिए नारी का सम्मान पर ही आगे हम नारी का सम्मान पर निबंध (Naari ka Samman Essay In Hindi) के तहत और चर्चा करते हैं। यहां आपको आगे Women respect essay  in hindi के तहत कई महत्वपूर्ण बातें समझ आएगी।

नारी का सम्मान करना आवश्यक :

आज के समाज में लगभग सभी जगहों पर नारी का सम्मान (nari ka samman) होता है, लेकिन कुछ स्थान ऐसे भी हैं जहां पर नारी का सम्मान नहीं के बराबर होता है। ऐसे लोगों को ते बात पता होना चाहिए कि नारी का सम्मना (women respect hindi nibandh) भगवान को सम्मान देने से भी बड़ा होता है। क्योंकि हमारी संस्कृति में नारी भी भगवान के समान ही मानी जाती है। इसलिए बड़े-बड़े ग्रंथों और महाकाव्यों में भी कहा गया है कि “यत्र पूज्यन्ते नारी तत्र रमयन्ते देवता”। इसलिए हर नारी का सम्मान करना आवश्यक है।

बच्चों में अच्छे संस्कार भरने का दायित्व :

नारियों का सम्मान करना हमारा कर्तव्य है क्योंकि नारी ही दुनिया के सभी बच्चों के अंदर संस्कार को भरती है। साथ ही उसे आगे चलकर एक अच्छा इंसान बनने के लिए तैयार भी करती है। बच्चों को सही राह कैसे दिखाएं या समाज में एक अच्छा व्यक्ति कैसे बनाएं, यह नारी पर निर्भर करता है। कोई भी इंसान बचपन के बाद अपनी आगे की जिंदगी कैसे जिएगा, ये सारी चीजें उसकी माँ के दिए गए संस्कारों से ही पता चलता है। हमारे समाज में बच्चों में अच्छे संस्कार भरने का दायित्व नारी का होता है। अपने इस दायित्व को वह पूरी तरह से निभाती है।

गृहिणी नारी का अस्तित्व :

समाज में नारी का योगदान भी बहुत महत्वपूर्ण है। केवल घर में ही नहीं बल्कि हमारे समाज में भी नारी का बहुत बड़ा योगदान होता है। जो नारी गृहिणी होती हैं उन्हें बहुत अधिक तवज्जो नहीं दिया जाता। यह हमारे समाज की बहुत बड़ी बुराई है। इसलिए हमारा कर्तव्य बनता है कि उन्हें सम्मान दें ताकि उन्हें भी आगे बढ़ने के लिए, अपने जीवन में कुछ हासिल करने के लिए प्रोत्साहन मिल सके। पुरुष यदि 8 घंटे काम करके आए तो उन्हें बहुत अधिक महत्व दिया जाता है।

वहीं दूसरी तरफ महिलाएं गृहणी के रूप में अगर दिन भर काम में लगे रहे फिर भी उसके महत्व को काम आंका जाता है। हमारे समाज में हमारे इस व्यवहार को हमें ही बदलना होगा। यह व्यवहार हमारे ही घर से शुरू हो सकता है। इसलिए यदि हम नारी का सम्मान करते हैं तो नारी को प्रोत्साहन मिलता है, जो उनके आगे बढ़ने और उनकी प्रगति के लिए बहुत आवश्यक है। इस प्रकार ही हर घर में गृहिणी नारी का अस्तित्व भी बना रहेगा।

नारी का शिक्षा में अधिकार :

कई स्थान ऐसे हैं जहां पर महिलाओं के सम्मान के साथ साथ उनकी शिक्षा में भागीदारी भी बड़ी तेजी से हो रही है। आज पूरे विश्व की ही नहीं बल्कि हमारे देश की भी लगभग आधे से अधिक महिलाएं शिक्षित हैं। भारत की ही बात करें तो यहां के सभी नागरिकों को शिक्षा का अधिकार मिलना उनका मौलिक अधिकार है और इसे अब सफल भी होते देखा जा रहा है।

लेकिन आज भी कई ऐसे गांव मौजूद हैं जहां पर महिलाओं को शिक्षा ग्रहण करने से रोका जाता है या उन्हें शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित नहीं किया जाता। इसलिए ऐसे क्षेत्रों में नारियों को आगे बढ़ाने के लिए सरकार द्वारा कई प्रकार की योजनाएं चलाई जाती हैं, जिनसे सभी लड़कियों को शिक्षा का अधिकार मिल सके। इसके अलावा इन योजनाओं का उद्देश्य यह भी होता है कि भारत की सभी नारियों को शिक्षा मिल सके।

नारी का सम्मान हर क्षेत्र में जरूरी :

हमारे समाज में सभी मानते हैं कि समाज का प्रधान पुरुष होता है। लेकिन आज के समय में पुरुषों के साथ साथ महिलाओं को भी महत्व देना आवश्यक है। अगर समाज का हर सदस्य पुरुषों के साथ साथ महिलाओं को भी समाज को संभालने का अधिकार दे, तो हमारा भारत काफी ऊंचाइयों पर जाएगा। इससे हमारा समाज ही नहीं बल्कि देश भी अपने आप पर गर्व करेगा। आज सच में महिलाओं की मौजूदगी हर जगहों पर देखी जा रही है। आने वाले समय में नारी की हिम्मत और उसके जज्बे का सम्मान हर क्षेत्र में होगा।

हमारे देश में नारियों का योगदान :

हमारे घर, हमारे समाज और हमारे देश में महिलाओं का योगदान काफी महत्वपूर्ण है। आंकड़ों के मुताबिक देखा जाए तो भारत जैसे देश में बहुत अधिक लोग व्यापार नहीं करते हैं। इसमें से एक बहुत बड़ी जनसंख्या कृषि और बाकी की जनसंख्या नौकरी एवं अन्य व्यापार में संलग्न है। लेकिन इनमें भी नारियों का योगदान भी काफी देखा जाता है। वर्तमान समय में पुरुष एवं महिलाएं दोनों ही साथ-साथ व्यापार करते हैं।

भारत में कई ऐसी महिलाएं हैं जो काफी बड़े-बड़े उद्योग और बिजनेस कंपनी की co-founder यानी सीईओ के रूप में भी काम करती हैं। इससे यह पता चलता है कि नारियां भी आज के समय में घर के साथ-साथ व्यापार की जिम्मेदारी ले सकती है। कई नारियां नौकरी पेशे से जुड़ी हुई हैं।

नारी के लिए सरकार द्वारा उठाए गए कदम :

आज भी हमारे देश में पुरुषों के क्रोध से महिलाएं चुप रहती हैं और सहती हैं। इसके अलावा आए दिन नारियों के साथ घरेलू हिंसा भी होता है। हम अक्सर खबरों में ऐसे न्यूज़ सुनते हैं। इस कारण सरकार ने इसके प्रति कड़े कानून भी बनाए हैं। इसका उद्देश्य किसी भी नारी के सामने घरेलू हिंसा का शिकार बनने की नौबत न आना है। नारियों के लिए इस बात को समझना जरूरी है। इससे किसी भी औरत को पुरुषों का जुल्म सहना नहीं पड़ेगा।

उपसंहार :

नारी को सम्मान (Essay on women respect in hindi) देने के लिए आज हम सभी लोगों को जागरूक होने की जरूरत है। तभी नारी को पूरी तरह से सम्मान दिया जा सकेगा। इसके लिए हमें मिलकर सरकार द्वारा चलाए जाने वाले सभी योजनाओं को सार्थक करना होगा। साथ ही महिलाओं पर हो रहे अत्याचारों के विरोध में आवाज भी उठानी होगी। इससे महिलाएं भी निडर होकर अपने हक के लिए खड़ी हो सकेंगी।

यह सिर्फ हमारे समाज के लिए ही नहीं बल्कि आने वाले भविष्य के लिए भी बहुत ही जरूरी है। हमारी कोशिश यही रहनी चाहिए कि हम कभी भी नारियों का अपमान न करें ताकि उन्हें भी अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में और अपने सुनहरे भविष्य के सपने को पूरा करने में मदद मिल सके।

👉 यदि आपको यह लिखा हुआ Nari samman essay in hindi (नारी का सम्मान पर निबंध) प्रारूप १ पसंद आया हो, तो इस निबंध को आप अपने दोस्तों के साथ साझा करके उनकी मदद कर सकते हैं |

👉 आप नीचे दिये गए छुट्टी पर निबंध पढ़ सकते है और आप अपना निबंध साझा कर सकते हैं |

छुट्टी पर निबंध
लॉकडाउन में मैंने क्या किया पर निबंधछुट्टी का दिन पर निबंध
गर्मी की छुट्टी पर निबंधछुट्टी पर निबंध
ग्रीष्म शिविर पर निबंधगर्मी की छुट्टी के लिए मेरी योजनाएँ पर निबंध
Nari samman essay in hindi (नारी का सम्मान पर निबंध)


विनम्र अनुरोध: 

आशा है आप इसे पढ़कर लाभान्वित हुए होंगे। आप से निवेदन है कि इस निबंध “Nari samman essay in hindi (नारी का सम्मान पर निबंध) में आपको कोई भी त्रुटि दिखाई दे तो हमें ईमेल जरूर करे। हमें बेहद प्रसन्नता होगी तथा हम आपके सकारात्मक कदम की सराहना करेंगे। हम आपके लिये भविष्य में इसी प्रकार Nari samman essay in hindi (नारी का सम्मान पर निबंध) की भाँति अन्य विषयों पर भी उच्च गुणवत्ता के सरल और सुपाठ्य निबंध प्रस्तुत करते रहेंगे।

यदि आपके मन में इस निबंध Nari samman essay in hindi (नारी का सम्मान पर निबंध) को लेकर कोई सुझाव है या आप चाहते हैं कि इसमें कुछ और जोड़ा जाना चाहिए, तो इसके लिए आप नीचे Comment सेक्शन में आप अपने सुझाव लिख सकते हैं आपकी इन्हीं सुझाव / विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मौका मिलेगा |


🔗 यदि आपको यह लेख Nari samman essay in hindi (नारी का सम्मान पर निबंध) अच्छा लगा हो इससे आपको कुछ सीखने को मिला हो तो आप अपनी प्रसन्नता और उत्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को निचे दिए गए Social Networks लिंक का उपयोग करते हुए शेयर (Facebook, Twitter, Instagram, LinkedIn, Whatsapp, Telegram इत्यादि) कर सकते है | भविष्य में इसी प्रकार आपको अच्छी गुणवत्ता के, सरल और सुपाठ्य हिंदी निबंध प्रदान करते रहेंगे।

अपने दोस्तों को share करे:

Leave a Comment