📢 भारतीय स्वतंत्रता के 75 साल – Essay on 75 years of Indian Independence in Hindi
🔥 Join eWritingCafe Telegram for latest Essay topics
🔥 An Essay on Holi Festival in English

मेरा जन्मदिन पर निबंध (My Birthday Essay in Hindi)

👀 इस पेज पर नीचे लिखा हुआ मेरा जन्मदिन पर निबंध (My Birthday Essay in Hindi) आप को अपने स्कूल या फिर कॉलेज प्रोजेक्ट के लिए निबंध लिखने में सहायता कर सकता है। आपको हमारे इस वेबसाइट पर और भी कई विषयों पर हिंदी में निबंध मिलेंगे (👉 निबंध सूचकांक), जिन्हे आप पढ़ सकते है, तथा आप उन सब विषयों पर अपना निबंध लिख कर साझा कर सकते हैं


मेरा जन्मदिन पर निबंध
My Birthday Essay in Hindi


🎂 मेरा जन्मदिन पर निबंध (My Birthday Essay in Hindi) पर यह निबंध बच्चो (kids) और class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12 और कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए लिखा गया है।

प्रस्तावना

हमारे जीवन में कई दिन खास होते हैं। इनमें वे दिन अधिक महत्वपूर्ण होते हैं जो हमसे और हमारे परिवार से बहुत अधिक जुड़े होते हैं। जैसे- जन्मदिन, विवाह की सालगिरह आदि। भले ही ये साल में एक बार आते हैं लेकिन तब ही इन दिनों में हमारी खुशियाँ दोगुनी-चौगुनी हो जाती है। जन्मदिन के अवसर पर हमारे सभी मित्र, पड़ोसी व परिवारजन बधाई देते हैं और उत्सव में सम्मिलित होते हैं। इस समय हमें एक-दूसरे के बारे में ज्यादा जानने का मौका मिलता है। वैसे जन्मदिन मनाने के बहुत सारे तरीके होते हैं। लेकिन मुझे रोचक तरीके अच्छे लगते हैं। और मैं अलग-अलग तरीकों से जन्मदिन मनाता हूँ। पिछले वर्ष मैंने भी अपना जन्मदिन मनाया था। वह मेरा अठारहवाँ जन्मदिन था। आइये जानते हैं मैंने अपना पिछला जन्मदिन कैसे मनाया?

मेरे संक्षिप्त परिचय

मेरा नाम विक्रम है। मुझे घर के सभी लोग प्यार से विकी भी पुकारते हैं। वर्तमान में मेरी उम्र 18 वर्ष से अधिक है। परिवार में दादा-दादी, माता-पिता और दो छोटे भाई-बहन रहते हैं। मैं अभी बी0ए0 की कक्षा में अध्ययन कर रहा हूँ जिसमें मेरे मुख्य विषय मनोविज्ञान, समाजशास्त्र और हिन्दी साहित्य हैं। नियमित कॉलेज जाकर मैं क्लास अटेंड करता हूँ और अपने शिक्षकों का सम्मान करता हूँ। हमारे शिक्षक हमें बहुत अच्छी और उपयोगी बातें बताते हैं। उनकी बातें हमें व्यावहारिक भी प्रतीत होती हैं इसीलिये हम उन पर अमल करते हैं।

हमारे हिन्दी के शिक्षक ने हमें जन्मदिन के महत्व के बारे में भी बताया था। उन्होंने बताया कि हर व्यक्ति को अपना जन्मदिन नये तरीकों से मनाना चाहिए। ऐसा जरूरी नहीं कि नये तरीकों से जन्मदिन मनाने के लिये अधिक धन खर्च करना होगा। हमें सिर्फ खुले मन से रचनात्मक कार्य करने के लिये प्रयास करने चाहिए और इससे हमें अच्छे परिणाम आएंगे।

मेरा अठारहवाँ जन्मदिन

मेरा अठारहवाँ जन्मदिन पिछले वर्ष जनवरी माह की सात तारीख को था। उस दिन मैंने अपने दादा जी के साथ मंदिर जाकर भगवान से प्रार्थना की कि मैं एक अच्छा मनुष्य बनूँ। दादा जी ने भी मेरी इस प्रार्थना को सराहा। इसके उपरांत रोजाना की तरह मैं अपने कॉलेज गया जहाँ पर मुझे अपने शिक्षकों और मित्रों से बधाइयाँ मिलीं। चूँकि मैं यह जन्मदिन नये तरीके से मनाना चाहता था तो मुझे एक उपाय सूझा।

घर वापस आकर मैंने पिताजी से नर्सरी चलने के लिये कहा। नर्सरी जाकर हमने वहाँ से कुछ पौधे खरीदे। ये पौधे ऐसे थे जो बड़े होने पर पर्याप्त छाया दे सकते थे। इन्हें हमने अपने घर के आंगन में रोपा। और उचित मात्रा में पानी दिया। वहाँ इन्हें बड़े होने का बाद पर्याप्त जगह भी थी औऱ दिन के समय धूप मिलने का भी प्रबंध था। इसके बाद मेरे दादाजी ने मुझे पौधों का हमारे जीवन में महत्व बताया और कई प्रकार के पौधों का वर्ण किया। मैंने भी उनसे वादा किया कि मैं इन पौधों का नियमित रूप से पानी प्रदान करूंगा।

इसके पश्चात हमने सभी रिश्तदारों और मित्रों का आमंत्रित किया और मैंने अपने अठारहवें जन्मदिवस का केक काटा। सभी मेहमानों ने मेरे जन्मदिवस मनाने के नये तरीके की प्रशंसा की। भोजन ग्रहण करने के बाद सभी खुशी-खुशी अपने-अपने घर चले गये। मैंने भी सोने से पहले भगवान को इस खूबसूरत जन्मदिन के लिये धन्यवाद किया।

उपसंहार

दोस्तों ये था मेरे अठारहवें जन्मदिन का वर्णन। यदि हम अपना कोई भी दिन नया और अनोखा बनाना चाहते हैं तो केवल हमें उत्साह के साथ  नये कार्य करने चाहिए। मैं इसी प्रकार अपने जन्मदिवसों को नये तरीकों से मनाने के की कोशिश करता रहूँगा। आशा है कि आप भी यही करेंगे। मेरी ओर से आपको शुभकामनाएँ।

👉 यदि आपको यह लिखा हुआ मेरा जन्मदिन पर निबंध (My Birthday Essay in Hindi) पसंद आया हो, तो इस निबंध को आप अपने दोस्तों के साथ साझा करके उनकी मदद कर सकते हैं


👉 आप नीचे दिये गए सामाजिक मुद्दे और सामाजिक जागरूकता पर निबंध पढ़ सकते है तथा आप अपना निबंध साझा कर सकते हैं |

सामाजिक मुद्दे और सामाजिक जागरूकता पर निबंध
नयी शिक्षा नीति पर निबंधशिक्षित बेरोजगारी पर निबंध
जीना मुश्किल करती महँगाईपुरानी पीढ़ी और नयी पीढ़ी में अंतर
मानव अधिकार पर निबंधभारत में आतंकवाद की समस्या पर निबंध
भ्रष्टाचार पर निबंधजीवन में शिक्षा का महत्व पर निबंध

विनम्र अनुरोध:

तो इस प्रकार “मेरा जन्मदिन पर निबंध (My Birthday Essay in Hindi)” पूरा होता है। हमने पूरी कोशिश की है कि इस निबंध में कोई गलती न हो। लेकिन फिर भी यदि आपको किसी भी प्रकार की त्रुटि दिखाई दे तो आप बेझिझक हमें ईमेल कर सकते हैं। भविष्य में हम इसी प्रकार आपको उच्च गुणवत्ता के, सुपाठ्य और सरल हिंदी निबंध प्रदान करते रहेंगे।

अपने दोस्तों को share करे:

Leave a Comment

X