📢 भारतीय स्वतंत्रता के 75 साल – Essay on 75 years of Indian Independence in Hindi
🔥 Join eWritingCafe Telegram for latest Essay topics
[Essay On 75th Independence Day Of India] [Azadi Ka Amrit Mahotsav Essay in English]

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध (Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi)

ajax loader

👀 स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध पर लिखा हुआ यह निबंध ( Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi / Essay on Clean India Movement in Hindi / Swacch Bharat Abhiyan Essay in Hindi) आप को अपने स्कूल या फिर कॉलेज प्रोजेक्ट के लिए निबंध लिखने में सहायता कर सकता है। आपको हमारे इस वेबसाइट पर और भी कही विषयों पर हिंदी में निबंध मिलेंगे (👉 निबंध सूचकांक), जिन्हे आप पढ़ सकते है, तथा आप उन सब विषयों पर अपना निबंध लिख कर साझा कर सकते हैं


स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध
Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi


स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध (Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi)
स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध (Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi)

🗣️स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध (Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi / Essay on Clean India Movement in Hindi) पर यह निबंध बच्चो (kids) और class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12, कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए और अन्य विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए लिखा गया है।

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध (Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi) प्रारूप १

परिचय

 कहते हैं कि जहां भी स्वच्छता होती है वहीं धन और समृद्धि का निवास होता है। जहां का भी वातावरण स्वच्छ होता है, वहां के लोगों का मन और तन भी स्वच्छ होता है। स्वच्छता हर किसी के जीवन का एक अहम हिस्सा है क्योंकि स्वच्छता के कारण ही मनुष्य का मान, सम्मान और समाज में उसका स्टेटस पता लगता है। व्यक्ति चाहे कितना भी अमीर या गरीब क्यों ना हो लेकिन अगर वह स्वच्छ तरीके से अपना जीवन नहीं जीता है तो कहीं ना कहीं उसका जीवन जीना निरर्थक है। इसलिए आज के समय में यह बहुत जरूरी हो जाता है कि बच्चे और उनके साथ-साथ लोगों को भी पता होना चाहिए कि जीवन में स्वच्छता कितनी जरूरी है।

स्वच्छ भारत अभियान (Swachh Bharat Abhiyan)

घर के साथ-साथ देश और समाज का भी स्वच्छ होना बहुत जरूरी है क्योंकि संपूर्ण देश हमारे घर की तरह होता है। अतः यह हमारी जिम्मेदारी है कि घर के साथ-साथ अपने देश को भी स्वच्छ रखा जाए। इसी को ध्यान में रखते हुए हमारे देश के प्रधानमंत्री जी के द्वारा 2 अक्टूबर 2014 को “स्वच्छ भारत अभियान” की शुरुआत की गई। यह अभियान देश के “राष्ट्रपिता महात्मा गांधी” की याद में शुरू किया गया था।

इस अभियान को काफी राष्ट्रीय स्तर पर शुरू किया गया था ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को इसके बारे में जानकारी हो सके और लोग स्वच्छता के प्रति जागरूक हो सकें। पहले भी कई बार देश के महापुरुषों द्वारा स्वच्छता को लेकर कई अभियान शुरू किए गए लेकिन किसी ना किसी कमी और लोगों की कम रुचि के कारण वे अभियान सफल ना हो सके। लेकिन स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत के बाद लोगों ने काफी मात्रा में इसमें रुचि दिखाई जिसका सकारात्मक परिणाम देखने को मिला। 

स्वच्छ भारत अभियान का उद्देश्य 

जैसा कि इस अभियान के नाम से ही स्पष्ट होता है, इसका उद्देश्य देश को साफ और सुथरा बनाना है। स्वच्छ भारत अभियान अर्थात एक ऐसा अभियान जिससे भारत को पूर्ण रूप से स्वच्छ बनाया जा सके। इस अभियान का उद्देश्य है कि भारत की हर छोटी गली से लेकर हर बड़े हाईवे को एकदम साफ-सुथरा कर दिया जाए। हर जगह शौचालयों की सुविधा हो, हर पार्क के पास डस्टबिन हो, हर स्कूल में बच्चों के लिए शौचालय हो, गली, मैदान, नालियों आदि इन सबके लिए कूड़ा करकट के निकासी की उच्च व्यवस्था हो, इसी उद्देश्य के साथ इस अभियान को बढ़ावा दिया गया।

इसी के साथ अभियान के और भी उद्देश्य हैं जैसे कि देश के ऐसे पिछड़े इलाके जहां पर बहुत ज्यादा गंदगी है और गंदगी के कारण ही वहां पर हजार प्रकार की बीमारियां उत्पन्न हो जाती हैं, ऐसे इलाकों में नालियों के पानी और गंदगी के लिए उचित व्यवस्था की जाए। मेरा ऐसा मानना है कि यह सारे उद्देश्य हासिल करने के लिए सरकार के साथ-साथ हम आम नागरिकों को भी अपनी पुरजोर कोशिश करनी चाहिए क्योंकि एक सच्चा नागरिक वही है जो पूरे देश को अपने घर की तरह मानकर उसकी स्वच्छता और रखरखाव की जिम्मेदारी लेता है। 

स्वच्छ भारत अभियान का परिणाम 

यह बहुत ही अच्छी बात है कि स्वच्छ भारत अभियान के बहुत सकारात्मक परिणाम देखने को मिले। इस अभियान के शुरू होने के बाद शुरुआती स्तर पर तो काफी धीरे प्रगति हुई लेकिन सरकार की लगातार कोशिशें और जिम्मेदार नागरिकों के कर्तव्य की वजह से बहुत ही जल्द इस अभियान ने अपनी रफ्तार पकड़ ली। स्वच्छ भारत अभियान की वजह से बहुत सी गंदी गलियों और मैदानों में स्वच्छता कार्य शुरू किए गए जिसके फोटो लगातार सोशल मीडिया और न्यूज़ पर देखने को मिले।

इस अभियान का एक और सकारात्मक पहलू देखने को यह मिला कि ग्रामीण इलाके और स्कूल जहां पर स्वच्छता की बहुत ज्यादा जरूरत थी, ऐसे इलाकों पर विशेष ध्यान दिया गया और वहां पर हर प्रकार की सुविधा उपलब्ध कराई गई जिससे वहां के स्कूल, प्राथमिक उपचार के केंद्र, बच्चों के खेलने के मैदान, रसोईघर आदि साफ-सुथरा रहें। आंकड़ों के मुताबिक स्वच्छ भारत अभियान के बाद ग्रामीण इलाकों में लगभग 10 करोड़ घरेलू शौचालय और शहरी इलाकों में लगभग 60 लाख घरेलू शौचालयों का निर्माण किया गया, इससे यह पता चलता है कि काफी हद तक यह अभियान अपने उद्देश्य में सफल रहा।

वर्ष 2019 में राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (NSO) द्वारा प्रकाशित एक न्यूज़ में बताया गया कि 2018 तक ग्रामीण क्षेत्रों में लगभग 71% घरेलू शौचालयों का उपयोग हुआ है। ऐसे बहुत से अनेक उदाहरण हैं जो यह प्रमाण हैं कि स्वच्छ भारत अभियान का काफी सकारात्मक परिणाम देखने को मिला। हालांकि अभी यह अभियान खत्म नहीं हुआ है और अब हम सब की भी जिम्मेदारी बनती है की इस अभियान को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाया जाए ताकि लोग स्वच्छता के प्रति जागरूक होकर इस अभियान में अपना योगदान दें।

स्वच्छ भारत अभियान से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण नारे

  • क्लीन इंडिया, ग्रीन इंडिया।
  • हम सभी लोगों का यही सपना, स्वच्छ भारत हो अपना।
  • क्लीन सिटी, ग्रीन सिटी, यही मेरी है ड्रीम सिटी। 
  • एक कदम स्वच्छता की ओर। 

निष्कर्ष

जो परिवर्तन आप दुनिया में देखना चाहते हैं वह सबसे पहले अपने आप में लागू करें “ महात्मा गांधी। उम्मीद करता हूँ कि आपको स्वच्छता की महत्ता पता चली होगी। हम जहाँ रहते हैं, वहाँ की साफ सफाई का कर्तव्य भी हमारा ही होता है। स्वच्छ भारत अभियान प्रयास से सरकार ने हमारे इस कर्तव्य को पूरा करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। हालांकि इसके बहुत अच्छे परिणाम देखने को मिले हैं लेकिन फिर भी मेरा मानना है कि अभी इस अभियान को और ज्यादा बढ़ावा देने की आवश्यकता है ताकि यह अभियान उन छोटे से छोटे कस्बों और गलियों तक अपना उद्देश्य पहुँचा सके जहाँ अभी स्वच्छता को लेकर जागरूकता की कमी है।

साथ ही हम सभी को अपने आस पास हमेशा स्वच्छता बनाये रखनी चाहिए और स्वच्छ भारत अभियान को भी सोशल मीडिया और अन्य स्रोतों के जरिये लोगों तक पहुँचाना चाहिये। सरकार के प्रयासों और हम और आप जैसे जिम्मेदार नागरिकों के थोड़े-थोड़े योगदान से हम अपना घर और देश दोनों को ही स्वच्छ और सुंदर बना सकते हैं। 


👉 यदि आपको “स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध ” पर यह निबंध पसंद आया हो, तो इस निबंध (Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi / Swacch Bharat Abhiyan Essay in Hindi) प्रारूप १ को आप दोस्तों के साथ साझा करके उनकी मदद कर सकते हैं




निबंध 2 (1100+ शब्द) स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध (Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi) प्रारूप २

प्रस्तावना : 

स्वच्छ भारत अभियान (swachh bharat abhiyan essay hindi) भारत सरकार द्वारा शुरू किया गया सर्वाधिक लोकप्रिय एवं अहम अभियानों में से एक है। स्वच्छ भारत अभियान (essay on Swachh Bharat Abhiyan) के तहत भारत के सभी शहरों एवं कस्बों से जोड़ा गया। इस अभियान में आम जनता से लेकर महान हस्तियों ने भी अपनी प्रतिभागिता की और इसे सार्थक बनाने में अपना योगदान दिया है।

स्वच्छ भारत अभियान (Clean India Movement essay in hindi) को राष्ट्रीय स्तर पर लागू करके भारत के हर हिस्से तक पहुंचाया गया।भारत सरकार द्वारा स्वच्छ भारत अभियान की इस पहल का उद्देश्य लोगों को स्वच्छता का महत्व समझना और इसके प्रति जागरूकता भी फैलाया जाना था। इस अभियान के उद्देश्य पूर्ति में भारत सरकार को सफलता भी प्राप्त हुई। स्वच्छ भारत अभियान के बारे में और विस्तार से a full essay on swachh bharat abhiyan in hindi में जानते हैं। इसे पढ़ने के बाद आपको swachh bharat abhiyan essay hindi mai लिखने में मदद मिलेगी।

स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत : 

स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत साल 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में की गई थी। वर्ष 2014 में इसे 2 अक्टूबर गांधी जयंती के अवसर पर शुरू किया गया था। इस दिन प्रधानमंत्री ने दिल्ली के राजघाट से सार्वजनिक सभा को संबोधित किया। उन्होंने भारत के सभी नागरिकों को इस अभियान में शामिल होने का निमंत्रण दिया था। इसमें महात्मा गांधी की सामाजिक स्वच्छता वाली विचारधारा को सम्मान दिया गया एवं नागरिकों में स्वच्छता को लेकर जागरूकता फैलाने का प्रयास किया गया।

स्वच्छ भारत अभियान का उद्देश्य :

महात्मा गांधी जी ने कहा था कि,” स्वच्छता, स्वतंत्रता से भी ज्यादा महत्वपूर्ण है।” महात्मा गांधी के इसी विचारधारा से प्रभावित होकर ही, स्वच्छता और अपशिष्ट प्रबंधन की समस्याओं का हल करने के लिए इस अभियान को जन साधारण के जीवन का हिस्सा बनाने का प्रयास किया गया।  इस योजना का प्रमुख उद्देश्य 2019 तक सभी नागरिकों के लिए स्वच्छ सुविधाओं का निर्माण करना और हर घर में शौचालय उपलब्ध कराना था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा इस अभियान को संपूर्ण रूप से Health Economy से जोड़ गया, क्योंकि इस मिशन में लोगों को रोजगार के अवसर भी प्रदान किए गए, जिसके कारण ज़ीडीपी में भी बढ़ोतरी देखी गई और स्वास्थ्य पर होने वाले खर्च को भी काफी हद तक कम कर दिया गया।

स्वच्छ भारत अभियान का प्रभाव :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने कई असाधारण विचारों को सोचा। इसके फलस्वरूप भारत को स्वच्छ रखने में काफी मदद भी मिली। भारत में खुले में शौच करना एक बहुत ही बड़ी समस्या थी। लेकिन प्रधानमंत्री द्वारा चलाए गए इस स्वच्छ भारत अभियान के वजह से हमारे देश को काफी लाभ हुआ है। बहुत सारे क्षेत्रों में गरीब लोगों के लिए शौचालय उपलब्ध करवाए गए हैं।

स्वच्छ भारत अभियान के कारण कई बड़े नदियों जैसे गंगा आदि को मिलकर साफ किया गया। इससे नदियों में उपस्थित प्लास्टिक डब्बे एवं गंदगी कम हुए हैं। नदियों के साफ होने की वजह से जलीय जीवों की जान बच रही है। इस अभियान के तहत बच्चों से लेकर वयस्कों और वृद्धों सभी ने स्वच्छता के महत्व को समझा। आने वाले समय में यह हमारे लिए फायदेमंद रहेगा। 

स्वच्छ भारत अभियान से होने वाले परिवर्तन :

स्वच्छ भारत अभियान कार्यक्रम (Clean india program) के वजह से सामाजिक तौर पर कई बदलाव हुए। इससे होने वाले परिवर्तनों ने भारत को स्वच्छता के साथ जोड़ा। इसके जरिए खुले में शौच का उन्मूलन हुआ‌। इसके अलावा गंदे शौचालयों को भी फ्लश शौचालयों में परिवर्तित किया गया। इसके अंतर्गत नागरपालिका अपशिष्ट प्रबंधन में भी परिवर्तन लाया गया। स्वच्छ भारत अभियान के प्रभाव काफी हद तक अच्छे देखने को मिले हैं। आगे भी इसका प्रसार होता रहेगा। अगर, इसी प्रकार नागरिकों द्वारा स्वच्छता पर ध्यान दिया गया, तो हमारे देश में विदेशी निवेश बढ़ेंगे‌। साथ ही पर्यटकों की संख्या बढ़ेगी और रोजगार के भी अवसर मिलेंगे।

स्वच्छ भारत अभियान से जुड़े आंकड़ें :

स्वच्छ भारत अभियान से जुड़े कई ऐसे आंकड़े हैं (swachh bharat abhiyan essay in hindi with points) जो विभिन्न रिपोर्ट के माध्यम से प्रकाशित हुए। कई अखबारों और मैगजीन में भी इसके आंकड़ों को संग्रहित किया गया। स्वच्छ भारत अभियान से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण आंकड़े इस प्रकार हैं –

• 2014 से लेकर 2022 तक स्वच्छ भारत अभियान के तहत कहीं बदलाव देखे गए। इस अभियान के जरिए ग्रामीण क्षेत्रों तक 100 मिलियन से भी ज्यादा शौचालय और शहरी क्षेत्रों में 60 लाख शौचालय का निर्माण कराया गया।

• इसके अलावा शहरी क्षेत्रों में भी 6 मिलियन से ज्यादा सार्वजनिक शौचालयों का निर्माण कराया गया।

• अगस्त 2017 में क्वालिटी काउंसिल ऑफ इंडिया द्वारा जारी किए गए स्वतंत्र सर्वेक्षण में हरियाणा को सिर्फ पर रखा गया, क्योंकि ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों ने 100% तक शौचालय का इस्तेमाल किया।

• COI द्वारा, स्वच्छता सर्वेक्षण में भोपाल के इंदौर शहर को भारत का सबसे स्वच्छ शहर घोषित किया गया।

• UNICEF ने भी स्वच्छ भारत अभियान की सराहना की, यूनिसेफ की रिपोर्ट के अनुसार, इस अभियान के बाद खुले में शौच करने वाले लोगों की संख्या 550 मिलियन से घटकर 50 मिलियन बताई गई।

• वर्ल्ड बैंक के रिपोर्ट में भी कहा गया कि 97% भारतीय अब शौचालय का इस्तेमाल करते हैं।

• वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन ने भी अपनी रिपोर्ट में यह कहा कि स्वच्छ भारत मिशन की शुरुआत के बाद से ही, भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में डायरिया से होने वाली मौतों की संख्या मे भी भारी कमी आई हैं।

स्वच्छ भारत अभियान में हमारा प्रयास :

स्वच्छता अभियान (essay on clean india green india in hindi) के जरिए मिले जागरूकता के अनुसार, नागरिकों को समाज और देश को स्वच्छ बनाए रखने की कोशिश करनी चाहिए। इस अभियान के लिए हमें महत्वपूर्ण कदम भी उठाने चाहिए। उदाहरण के तौर पर, यात्रा करते वक्त सड़कों पर कागज या सूखे कचरे फेंके जाने से खुद को रोकना जरूरी है।

सड़कों या सार्वजनिक स्थलों पर कचरा फैलाने से होने वाली वायरल बीमारियों से लोगों को जागरूक करना भी आवश्यक है। तंबाकू तथा गुटखा आदि के सेवन से होने वाले शारीरिक बीमारियों के प्रति लोगों को जागरूक करना चाहिए। प्राकृतिक और सामाजिक सुरक्षा के लिए प्लास्टिक का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इस तरह के प्रयास करके भी हम स्वच्छता अभियान को सफल बना सकते हैं।

उपसंहार : 

स्वच्छ भारत अभियान बहुत महत्वपूर्ण अभियान रहा है। इस अभियान का उद्देश्य ही भारत को स्वच्छ और सुंदर बनाना का है। भारत  स्वास्थ्य के मामले में काफी पीछे रहा। इसलिए इस प्रकार के अभियान की सख्त जरूरत थी। स्वच्छ भारत अभियान के जरिए ही लोगों को स्वास्थ का महत्व समझाया गया। इस अभियान के जरिए देश नई उपलब्धियों को भी हासिल करेगा, रोजगार और पर्यटकों के लिए भी नए अवसर खुलेंगे। यह सिलसिला जारी रहा तो,भारत दुनिया के स्वच्छ देशों की सूची में भी जल्द ही शामिल हो जायेगा।

👉 यदि आपको “स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध ” पर यह निबंध पसंद आया हो, तो इस निबंध (Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi / Swacch Bharat Abhiyan Essay in Hindi) प्रारूप २ को आप दोस्तों के साथ साझा करके उनकी मदद कर सकते हैं

👉 आप नीचे दिये गए सामाजिक मुद्दे और सामाजिक जागरूकता पर निबंध पढ़ सकते है तथा आप अपना निबंध साझा कर सकते हैं |

सामाजिक मुद्दे और सामाजिक जागरूकता पर निबंध
नयी शिक्षा नीति पर निबंधशिक्षित बेरोजगारी पर निबंध
जीना मुश्किल करती महँगाईपुरानी पीढ़ी और नयी पीढ़ी में अंतर
मानव अधिकार पर निबंधभारत में आतंकवाद की समस्या पर निबंध
भ्रष्टाचार पर निबंधजीवन में शिक्षा का महत्व पर निबंध

विनम्र अनुरोध: 

तो मित्रों, इस प्रकार स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध (Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi / Essay on Clean India Movement in Hindi) प्रारूप १/ समाप्त होता है। हमने पूरी कोशिश की है कि इस निबंध में किसी प्रकार की त्रुटि न हो, लेकिन फिर भी भूलवश कोई त्रुटि हो गयी हो तो आप अपने सुझाव हमें ईमेल कर सकते हैं। हम आपके सकारात्मक कदम की सराहना करेंगे। हम आपके लिये भविष्य में इसी प्रकार स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध (Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi / Essay on Clean India Movement in Hindi) की भाँति अन्य विषयों पर भी उच्च गुणवत्ता के सरल और सुपाठ्य निबंध प्रस्तुत करते रहेंगे। 

यदि आपके मन में इस निबंध (Essay) को लेकर कोई सुझाव है या आप चाहते हैं कि इसमें कुछ और जोड़ा जाना चाहिए, तो इसके लिए आप नीचे Comment सेक्शन में आप अपने सुझाव लिख सकते हैं आपकी इन्हीं सुझाव / विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मौका मिलेगा |

🔗 यदि आप इस निबंध (Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi / Essay on Clean India Movement in Hindi) से लाभान्वित हुए हों तो आप इसे सोशल मीडिया पर अपने मित्रों व सहपाठियों के साथ Facebook, Whatsapp, Telegram, Email  आदि के माध्यम से शेयर भी कर सकते हैं।  क्योंकि, ज्ञान बाँटने से बढ़ता है। भविष्य में हम इसी प्रकार आपको “स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध (Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi / Essay on Clean India Movement in Hindi)” की भाँति अन्य विभिन्न उच्च गुणवत्ता के निबंध सरल और सुपाठ्य भाषा में प्रदान करते रहेंगे।

-|| जय हिंद ||-

अपने दोस्तों को share करे:

Leave a Comment