📢 भारतीय स्वतंत्रता के 75 साल – Essay on 75 years of Indian Independence in Hindi
🔥 Join eWritingCafe Telegram for latest Essay topics
🔥 An Essay on Holi Festival in English

मेरा प्रिय मित्र पर निबंध

👀 मेरा प्रिय मित्र पर निबंध पर लिखा हुआ यह निबंध आप को अपने स्कूल या फिर कॉलेज प्रोजेक्ट के लिए निबंध (Mera Priya Mitra par Nibandh / Hindi Essay on my best Friend) लिखने में सहायता कर सकता है। आपको हमारे इस वेबसाइट पर और भी कही विषयों पर हिंदी में निबंध मिलेंगे (👉 निबंध सूचकांक), जिन्हे आप पढ़ सकते है, तथा आप उन सब विषयों पर अपना निबंध लिख कर साझा कर सकते हैं


मेरा प्रिय मित्र पर निबंध
Mera Priya Mitra par Nibandh
Hindi Essay on my best Friend


🗣️ मेरा प्रिय मित्र पर निबंध ( Mera Priya Mitra par Nibandh) पर यह निबंध बच्चो (kids) और class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12, कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए और अन्य विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए लिखा गया है।

प्रस्तावना

संसार के सभी संबंधों में मित्रता का संबंध बहुत सुंदर होता है। यह किसी भी पद, पहचान या धन पर निर्भर नहीं होता। हम जानते हैं कि श्रीकृष्ण ने एक महाराजा होते हुए भी अपने बचपन के मित्र सुदामा को आदर और सत्कार दिया था। मैं अमित हूँ और इस निबंध में अपने प्रिय मित्र सौरभ के गुणों और हमारी मित्रता पर कुछ बातें साझा करूंगा। जिस तरह कृष्ण ने अपनी मित्रता को हमेशा पवित्र बनाकर रखा, वैसे ही मैं भी हमारी मित्रता को अच्छा बनाने की कोशिश करता हूँ।

सौरभ के विशेष गुण

सौरभ में कई उल्लेखनीय गुण हैं। फिर भी सौरभ के कुछ गुण मुझे बहुत अच्छे लगते हैं। वह मेरी ही कक्षा में पढ़ता है। वह पढ़ाई में होशियार है। हमारे शिक्षक सौरभ को बहुत पसंद करते हैं। वह प्रतिवर्ष वार्षिक परीक्षा में प्रथम स्थान पर आता है। उसे इतिहास और अंग्रेजी पढ़ने में काफी रुचि है। विद्यालय आते समय वह अपने माता-पिता के नियमित चरण स्पर्श करता है। हमारे विद्यालय के परिसर में स्थित मंदिर में वह भगवान से आशीर्वाद भी लेता है। पिछले माह उसे एक कला प्रतियोगिता में अच्छा प्रदर्शन करने के लिये पुरस्कार भी मिला था, अत: वह कला का भी एक अच्छा छात्र है।

सौरभ के व्यवहार से हम सभी मित्र संतुष्ट रहते हैं। किसी भी विपदा के समय सौरभ हर किसी की सहायता के लिये तैयार रहता है। उससे हमें काफी सारी चीजें सीखने को मिलती हैं। मेरे माता-पिता भी सौरभ के साथ मेरी संगति को सराहते हैं। हम दोनों मित्र गलत कामों और बुरे लोगों से दूर रहते हैं। सौरभ मुझे परीक्षा से पूर्व सभी विषयों की तैयारी करने में मदद भी करता है। वह मेरे हित के लिये मेरी गलतियाँ बताता है और उन्हें सुधारने में सहायता करता है।

हमारी मित्रता की कुछ घटनाएं

सौरभ और मेरी मित्रता की शुरुआत कक्षा 6 से हुई थी। हम दोनों इस विद्यालय में नये छात्र थे। अन्य छात्रों की तुलना में मैं सौरभ के साथ समय बिताना पसंद करता था। धीरे-धीरे हमारी मित्रता घनिष्ठ होती गई। अब हम कक्षा नौ में साथ पढ़ रहे हैं, इस बीच अब तक हमारे बीच न कोई झगड़ा हुआ, न ही कोई मनमुटाव। 

एक बार विद्यालय से जाते हुए कुछ आवारा लड़कों ने मुझे परेशान करना शुरु किया। जब सौरभ ने मुझे देखा तो उसने पास खड़ी पुलिस से सहायता माँगी। पुलिस ने उन लड़कों को डाँटकर वापस भेज दिया। हम दोनों ने पुलिस का धन्यवाद किया। इस तरह सौरभ ने अपनी सूझ-बूझ से मुझे उन लड़कों से बचाया। मैंने भी सौरभ का शुक्रिया अदा किया और हमारी मित्रता को ऐसे ही बरकरार रखने का वादा किया।

सच्ची मित्रता

सच्चे मित्र बहुत ही कम होते हैं। बिना किसी लालच और घृणा के मित्रता निभाने वाले ही सच्चे मित्र होते हैं। सौरभ और मैं भी वैसे ही सच्चे मित्र हैं। हम दोनों हमेशा एक दूसरे को आवश्यकता होने पर मदद करते हैं। एक दूसरे के लक्ष्यों की प्राप्ति में भी हम सहायता करते हैं और प्रेरणा देते हैं। एक सच्चे मित्र की पहचान होती है कि वह हमेशा अपने मित्र की भलाई के लिये ही सोचता है। 

उपसंहार

सौरभ और मेरी मित्रता सच्ची मित्रता है। हमारे परिवार के जन भी इसका समर्थन करते हैं। एक मित्र के रूप में सौरभ जैसा मित्र मिलना बहुत सौभाग्य की बात है। इसीलिये मैं स्वयं पर गर्व अनुभव करता हूँ कि मेरा मित्र सौरभ है। आप भी हमेशा अपनी मित्रता को सच्चा बनाने का प्रयास करें।


👉 यदि आपको “मेरा प्रिय मित्र पर निबंध” पर लिखा हुआ यह निबंध पसंद आया हो, तो इस निबंध (Mera Priya Mitra par Nibandh / Hindi Essay on my best Friend) को आप दोस्तों के साथ साझा करके उनकी मदद कर सकते हैं


👉 आप नीचे दिये गए सामाजिक मुद्दे और सामाजिक जागरूकता पर निबंध पढ़ सकते है तथा आप अपना निबंध साझा कर सकते हैं |

सामाजिक मुद्दे और सामाजिक जागरूकता पर निबंध
नयी शिक्षा नीति पर निबंधशिक्षित बेरोजगारी पर निबंध
जीना मुश्किल करती महँगाईपुरानी पीढ़ी और नयी पीढ़ी में अंतर
मानव अधिकार पर निबंधभारत में आतंकवाद की समस्या पर निबंध
भ्रष्टाचार पर निबंधजीवन में शिक्षा का महत्व पर निबंध

विनम्र अनुरोध:

इस तरह “मेरा प्रिय मित्र पर निबंध ( Mera Priya Mitra par Nibandh)” यहीं पूरा होता है। हमने अपना सर्वश्रेष्ठ देते हुए पूरी कोशिश की है कि इस हिंदी निबंध में किसी भी प्रकार की त्रुटि ना हो। फिर भी यदि आप को इस निबंध में कोई गलती दिखती है तो आप अपना बहुमूल्य सुझाव ईमेल के द्वारा दे सकते है। ताकि हम आपको निरन्तर बिना किसी त्रुटि के लेख प्रस्तुत कर सकें।

अपने दोस्तों को share करे:

Leave a Comment

X