📢 भारतीय स्वतंत्रता के 75 साल – Essay on 75 years of Indian Independence in Hindi
🔥 Join eWritingCafe Telegram for latest Essay topics
[Essay On 75th Independence Day Of India] [Azadi Ka Amrit Mahotsav Essay in English]

Dhanteras Essay in Hindi (धनतेरस पर निबंध)

ajax loader

👀 “धनतेरस पर निबंध” पर लिखा हुआ यह निबंध आप को अपने स्कूल या फिर कॉलेज प्रोजेक्ट के लिए निबंध (Dhanteras Essay in Hindi) लिखने में सहायता कर सकता है। आपको हमारे इस वेबसाइट पर और भी कही विषयों पर हिंदी में निबंध मिलेंगे (👉 निबंध सूचकांक), जिन्हे आप पढ़ सकते है, तथा आप उन सब विषयों पर अपना निबंध लिख कर साझा कर सकते हैं

धनतेरस पर निबंध
Dhanteras Essay in Hindi

🗣️ धनतेरस पर निबंध (Dhanteras Essay in Hindi) पर यह निबंध बच्चो (kids) और class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12, कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए और अन्य विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए लिखा गया है।

प्रस्तावना (Introduction)

भारतीय त्यौहारों में धनतेरस एक बहुत प्रसिद्ध त्योहार है। यह दीवाली से दो दिन पहले मनाया जाता है। धनतेरस के बारे में लोगों को अधिक जानकारी नहीं होती। हम अक्सर धनतेरस को केवल खरीदारी, शॉपिंग और धन संपत्ति तक ही सीमित समझते हैं। परंतु धनतेरस का महत्व इससे अधिक है। धनतेरस के बारे में कई कथाएँ आदि भी प्रचलित हैं। आइये धनतेरस के संबंध में विभिन्न बातें व उनका महत्व आदि जानते हैं-

धनतेरस की कथा (Story of Dhanteras)

धनतेरस का त्यौहार कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष त्रयोदशी को मनाया जाता है। प्रचलित मान्यता है कि इसी दिन भगवान धन्वंतरी समुद्र मंथन से प्रकट हुए थे। भगवान धन्वंतरि आयुर्वेद व चिकित्सा के देवता थे। तथा वे देवताओं के भी चिकित्सक माने जाते हैं। 

प्रचलित कहानी है कि एक समय हेम नाम के राजा थे। उन्हें एक पुत्र की प्राप्ति हुई लेकिन ज्योतिषी ने कहा कि अगर उसका विवाह हुआ तो विवाह के चार दिन बाद ही उसकी मृत्यु हो जाएगी। राजा व रानी बहुत परेशान हो गए। इसलिए उन्होंने बालक को ऐसी जगह भेज दिया जहां उसकी किसी स्त्री से मुलाकात न हो। परंतु संयोगवश एक दिन उसकी मुलाकात एक सुंदरी से हुई और उन्होंने विवाह कर लिया।

अब जैसा कि ज्योतिषी ने भविष्यवाणी की थी विवाह के चार दिन बाद युवक को यमदूत लेने आए परन्तु उसकी पत्नी का विह्वल कर देने वाला विलाप सुनकर यमराज से पूछा- महाराज किसी भी मनुष्य के लिए अकाल मृत्यु से बचने का क्या उपाय है?

यमराज ने जवाब दिया- जो इंसान धनतेरस की संध्या को घी या तेल का दिया अपने घर की बाहर दक्षिण दिशा में रखता है उसकी अकाल मृत्यु नहीं होती। इसी कारण कई परिवारों में इस दिन दिया रखने का भी प्रचलन है।

वर्तमान जीवनशैली में धनतेरस (Dhanteras in current lifestyle)

वर्तमान जीवनशैली में लोग धनतेरस को बड़ी धूमधाम से मनाते हैं। इस दिन वो अलग अलग प्रकार के बर्तन, सोने व चांदी के गहने आदि खरीदते हैं। क्यूंकि माना जाता है जब भगवान धन्वंतरि प्रकट हुए थे तो उनके पास एक अमृत कलश था। इसलिए इस दिन बर्तन खरीदना बहुत शुभ माना जाता है।

धनतेरस पर बाजारों में आम दिनों के मुकाबले कई गुना ज्यादा चहल पहल होती है। इस दिन छोटे व बड़े सभी विक्रेताओं की बिक्री बढ़ती है तथा उन्हें बहुत फायदा होता है। विभिन्न कंपनियां इसी अवसर का फायदा उठाकर लुभावनी स्कीम लाती हैं जिससे अपनी बिक्री और अधिक बढ़ा सकें। बाजार के लिए तो ये सब अच्छा होता है लेकिन लोगों की खरीदारी करने की आदतें खराब हो जाती हैं। धनतेरस के दिन सबसे उत्तम है कि आप सोने अथवा चांदी का कोई सिक्का खरीदें जिस पर लक्ष्मी गणेश का चित्र अंकित हो।

धनतेरस का महत्व (Importance of Dhanteras)

भगवान धन्वंतरि को आयुर्वेद व चिकित्सा का देवता कहा जाता है। इसलिए हम इस दिन को आयुर्वेद के दिन के रूप में भी मनाते हैं। हाल ही में भारतीय सरकार ने भी धनतेरस को आयुर्वेद दिवस के नाम से मनाने का निर्णय किया है। क्यूंकि जब भी हम धन की कल्पना करते हैं तो हम पैसों और संपत्ति के बारे में सोचते हैं जबकि असली धन तो हमारा स्वास्थ्य होता है। इसी कारण इस दिन को आयुर्वेद दिवस के रूप में चुना गया है।

कुछ परिवारों में धनतेरस पर व्रत रखने की भी परंपरा है हालांकि यह अन्य त्योहारों से तुलनात्मक रूप से कम है फिर भी की लोग इस दिन व्रत उपवास रखते हैं।

उपसंहार (Conclusion)

धनतेरस हमारे देश व संस्कृति का बहुत महत्वपूर्ण त्यौहार है। यह हमें अपने जीवन में धन संपत्ति की भी उचित अहमियत बताता है। तथा स्वास्थ्य सर्वोत्तम है- इसका भी ज्ञान देता है। धनतेरस के बाद कई अन्य उल्लासपूर्ण त्यौहार जैसे अनंत चतुर्दशी, दीवाली आदि आते हैं। इसलिए भी इसका महत्व बढ़ जाता है।

👉 यदि आपको “धनतेरस पर निबंध” पर लिखा हुआ यह निबंध पसंद आया हो, तो इस निबंध (Dhanteras Essay in Hindiको आप दोस्तों के साथ साझा करके उनकी मदद कर सकते हैं

👉 आप नीचे दिये गए सामाजिक मुद्दे और सामाजिक जागरूकता पर निबंध पढ़ सकते है तथा आप अपना निबंध साझा कर सकते हैं |

सामाजिक मुद्दे और सामाजिक जागरूकता पर निबंध
नयी शिक्षा नीति पर निबंधशिक्षित बेरोजगारी पर निबंध
जीना मुश्किल करती महँगाईपुरानी पीढ़ी और नयी पीढ़ी में अंतर
मानव अधिकार पर निबंधभारत में आतंकवाद की समस्या पर निबंध
भ्रष्टाचार पर निबंधजीवन में शिक्षा का महत्व पर निबंध
धनतेरस पर निबंध (Dhanteras Essay in Hindi)

विनम्र अनुरोध (Humble request)

आशा है आप इसे पढ़कर लाभान्वित हुए होंगे। आप से निवेदन है कि इस निबंध “धनतेरस पर निबंध (Dhanteras Essay in Hindi)“ में आपको कोई भी त्रुटि दिखाई दे तो हमें ईमेल जरूर करे। हमें बेहद प्रसन्नता होगी तथा हम आपके सकारात्मक कदम की सराहना करेंगे। हम आपके लिये भविष्य में इसी प्रकार “धनतेरस पर निबंध (Essay on Dhanteras in Hindi)“ की भाँति अन्य विषयों पर भी उच्च गुणवत्ता के सरल और सुपाठ्य निबंध प्रस्तुत करते रहेंगे।

यदि आपके मन में इस निबंध “धनतेरस पर निबंध (Dhanteras Essay in Hindi)“ को लेकर कोई सुझाव है या आप चाहते हैं कि इसमें कुछ और जोड़ा जाना चाहिए, तो इसके लिए आप नीचे Comment section में आप अपने सुझाव लिख सकते हैं आपकी इन्हीं सुझाव / विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मौका मिलेगा |

यदि आपको यह लेख “धनतेरस पर निबंध (Dhanteras Essay in Hindi)” अच्छा लगा हो इससे आपको कुछ सीखने को मिला हो तो आप अपनी प्रसन्नता और उत्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को निचे दिए गए Social Networks लिंक का उपयोग करते हुए शेयर (Facebook, Twitter, Instagram, LinkedIn, Whatsapp, Telegram इत्यादि) कर सकते है | भविष्य में इसी प्रकार आपको अच्छी गुणवत्ता के, सरल और सुपाठ्य हिंदी निबंध प्रदान करते रहेंगे।

अपने दोस्तों को share करे:

Leave a Comment