📢 भारतीय स्वतंत्रता के 75 साल – Essay on 75 years of Indian Independence in Hindi
🔥 Join eWritingCafe Telegram for latest Essay topics
🔥 An Essay on Holi Festival in English

मेरा भारत महान हिंदी निबंध

👀 मेरा भारत महान हिंदी निबंध  पर लिखा हुआ यह निबंध ( Mera Desh Bharat Mahaan Hindi Essay) आप को अपने स्कूल या फिर कॉलेज प्रोजेक्ट के लिए निबंध लिखने में सहायता कर सकता है। आपको हमारे इस वेबसाइट पर और भी कही विषयों पर हिंदी में निबंध मिलेंगे (👉 निबंध सूचकांक), जिन्हे आप पढ़ सकते है, तथा आप उन सब विषयों पर अपना निबंध लिख कर साझा कर सकते हैं


मेरा भारत महान हिंदी निबंध
Mera Desh Bharat Mahaan Hindi Essay


🗣️ मेरा भारत महान हिंदी निबंध (Mera Desh Bharat Mahaan Hindi Essay) पर यह निबंध बच्चो (kids) और class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12, कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए और अन्य विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए लिखा गया है।


मेरा भारत महान हिंदी निबंध प्रारूप १


परिचय

दुनिया में कई प्रकार के देश हैं और हर देश की अलग-अलग संस्कृति और सभ्यता है। हर देश का अपना अलग तरीके का वातावरण और अलग तरीके के नियम कानून होते हैं। देशों में कई प्रकार की विभिन्नताएँ होने के बावजूद भी हर व्यक्ति अपने देश से अथाह प्रेम करता है। इन्हीं देशों में से एक देश मेरा भी है जिसका नाम है “भारत”। भारत को हम और कई नामों से पुकारते हैं जैसे हिंदुस्तान, इंडिया और प्राचीन काल में तो इसे भरतपुर के नाम से भी पुकारा जाता था। मेरा भारत प्राचीन काल से ही अस्तित्व में है और यहां पर विभिन्न प्रकार के लोग रहते हैं। मेरा भारत देश दुनिया का सर्वश्रेष्ठ देश है क्योंकि यहां का वातावरण और संस्कृति बाकी देशों से बहुत अलग है। भारत देश को प्राचीन काल में बहुत ही समृद्ध होने की वजह से इसे “सोने की चिड़िया” भी कहा जाता था। भारत की भूमि पर बहुत से प्रतापी राजाओं ने जन्म लिया और अपने देश के लिए अपनी कुर्बानी भी दी है। क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत विश्व का सातवां सबसे बड़ा और जनसंख्या की दृष्टि से विश्व का दूसरा सबसे बड़ा देश है।

मेरे भारत देश की कई विशेषताएं हैं। यहां पर विभिन्न प्रकार के लोग रहते हैं। सबकी अलग-अलग धारणाएं हैं और सब लोग अलग-अलग धर्म और संस्कृति का पालन करते हैं। भारत में इतनी विभिन्नताएं होने के बावजूद सदैव एकता बनी रहती है। यही विशेषता भारत को बाकी देशों से अलग बनाती है, जो कि किसी और देश में देखने को नहीं मिलती है। यहां का वातावरण बहुत ही अच्छा रहता है जिससे यहां के लोगों का स्वास्थ भी बहुत उत्तम रहता है। भारत में हिंदू, मुस्लिम, सिख, इसाई सभी धर्मों के लोग प्रेम के साथ अपना जीवन यापन करते हैं। भारत का संविधान विश्व का सबसे बड़ा लिखित संविधान है जो कि किसी भी देश के लिए एक बहुत बड़ी बात होती है। इसी के साथ भारत में विभिन्न प्रकार के मौसम जैसे सर्दी, गर्मी, बसंत ऋतु, शरद ऋतु, हेमंत ऋतु आदि कई प्रकार की ऋतुएँ पाई जाती हैं, जो इसे अपने आप में खास बनाती हैं। मैं अपने आप पर बहुत गर्व महसूस करता हूं कि मेरा जन्म भारत जैसी पावन भूमि पर हुआ है।

काफी सालों तक हमारा प्यारा भारत अंग्रेजों का गुलाम रहा लेकिन हमारे देश के महान स्वतंत्रता सेनानियों की कठोर मेहनत और सही कूटनीति के द्वारा हमारे भारत को 15 अगस्त 1947 को अंग्रेजों की गुलामी से आजादी मिल गई। उसके बाद हमारा भारत तेजी से फलता-फूलता गया और आज भारत को दुनिया के सर्वश्रेष्ठ देशों में से गिना जाता है। इसी के साथ वही अंग्रेज जिन्होंने हमारे भारत को गुलाम बनाया था, आज वो अपनी बड़ी-बड़ी कंपनियां, फैक्ट्रियां और अपने बड़े-बड़े प्रोजेक्ट को लेकर भारत में निवेश करने के लिए आते हैं। ये सभी बिंदु यह दर्शाते हैं कि कठिन परिस्थितियों से निपटने के बाद भी जो उच्च शिखर पर पहुंच जाए वह है “मेरा महान भारत”। वर्तमान में दुनिया का हर देश भारत की ओर सम्मान की दृष्टि से देखता है और दुनिया की जितनी भी बड़ी कंपनियां हैं जैसे कि गूगल और ट्विटर इन के सीईओ (CEO) भी भारतीय ही हैं।

अगर मैं अपने भारत की और खूबियों की बात करूं तो उसके लिए शब्द कम पड़ जाएंगे क्योंकी मेरा भारत दुनिया के हर क्षेत्र में आगे है। भारत भूमि पर बहुत सारे महान व्यक्तियों जैसे स्वामी विवेकानंद, महावीर स्वामी, गौतम बुद्ध, सुभाष चंद्र बोस, भगत सिंह, लाला लाजपत राय, खुदीराम बोस आदि कई महान व्यक्तियों के जन्म हुए हैं इसीलिए मेरे भारत को भी “महान भारत” की संज्ञा दी जाती है। इन सभी महान व्यक्तियों ने अपने देश के लिए बहुत योगदान दिया है और वर्तमान में केवल भारत ही नहीं बल्कि पूरा विश्व इन महान व्यक्तियों के कार्यों को याद करता है। भारत के बाहर तो कई सारे ऐसे देश हैं,जहां पर स्वामी विवेकानंद, महावीर स्वामी और गौतम बुद्ध जैसे महान व्यक्तियों को पूजा जाता है। यह सारी चीजें हम भारतवासियों को गौरवान्वित महसूस कराती हैं और हमारे अंदर देशप्रेम की भावना जाग्रत करती हैं।

निष्कर्ष

सभी लोगों को अपने महान भारत के प्रति समर्पित रहना चाहिए। सभी को सदैव अपने तिरंगे और देश के महान व्यक्तियों का सम्मान करना चाहिए। क्योंकि मेरा ऐसा मानना है कि पृथ्वी पर देश तो बहुत हैं, लेकिन विभिन्नता में एकता वाला देश केवल मेरा भारत ही है। 

       वीर सपूतों की भूमि, जन्म लेते यहाँ भगवान।

          गर्व से कहेंगे हम, मेरा भारत है महान।।

यह कविता मेरे महान भारत पर एकदम सटीक बैठती है क्योंकि यहाँ पर भगवान से लेकर वीर सपूतों ने अपना जीवन बिताया है और देश के लिए बहुत योगदान दिया है। इसीलिए मेरे देश को “महान” कहा जाता है। 


👉 यदि आपको “मेरा भारत महान हिंदी निबंध” पर यह निबंध पसंद आया हो, तो इस निबंध (मेरा भारत महान पर निबंध इन हिंदीMera Desh Bharat Mahaan Hindi Essay) को आप दोस्तों के साथ साझा करके उनकी मदद कर सकते हैं


मेरा भारत महान हिंदी निबंध प्रारूप २

दिसम्बर 1, 2021 by Amit Kumar


परिचय

हम जहाँ भी रहते हैं, उस जगह से हमारा जुड़ाव हो जाता है। ये जुड़ाव सांस्कृतिक, भावनात्मक और वैचारिक स्तरों पर होता है। ऐसा ही एक जुड़ाव मैं अपने प्रिय देश भारत के साथ महसूस करता हूँ। इस देश के गुणों को जितना अधिक बखान किया जाए उतना ही कम है। फिर भी मैं यथाशक्ति अपने देश की कुछ बातों को यहाँ उल्लिखित करूंगा।

भारत के सशक्त पहलू

भारत सिर्फ धरती का एक टुकड़ा नहीं है। यह स्वयं में समस्त विश्व का मूल आधार है। ज्ञान-विज्ञान की, आध्यात्म की, विभिन्न प्रकार की कलाओं की और अन्य क्षेत्रों की जड़े भारत में ही फली-फूली हैं। 

  1. ज्ञान-विज्ञान के स्रोत के रूप में भारत

जीवन की अलग-अलग जरूरतों को पूरा करने के लिये जो ज्ञान और विज्ञान भारत में फलीभूत हुआ, वह अतुल्य है। हमारे ऋषि-मुनियों, वैज्ञानिकों और चिकित्सकों ने हजारों साल पहले के अपने काल में ही उन सत्यों की खोज कर ली थी जिन्हें आज आधुनिक विज्ञान यंत्रों से सिद्ध करने में सफल होता है।

  1. विभिन्न कलाओं का जन्मदाता

विभिन्न कलाओं का उच्चतम विकास भारत में हुआ है। जिनमें स्थापत्य कला, साहित्य, संगीत, नृत्य आदि प्रमुख हैं। हिन्दू राजाओं जैसे चंद्रगुप्त, विक्रमादित्य, अशोक आदि के शासन में इन कलाओं ने अपने शिखरों को छुआ है।

  1. आध्यात्म: भारत और जीवन की नींव

भारत की मौलिकता उसके अध्यात्म और सहज जीवन में बसती है। इसने सभी धर्मों को समान रूप से अंगीकार किया है। यही कारण है जब भी यहाँ हमला हुआ या बाहर से लोगों ने शरण मांगी, इसने सहजता से स्वीकार किया।

  1. विस्तृत राजनैतिक ईकाईया

पहले देश भर में कई संख्याओं में भिन्न-भिन्न राजनैतिक ईकाईया थीं। सभी की भाषा और परिवेश अलग होते हुए भी सब एक अदृश्य सूत्र में बंधे  हुए थे, जो उत्तर से दक्षिण और पूरब से पश्चिम तक भारत को अखंड बनाते थे। सैंकड़ों सालों की दासता से मुक्त होकर वही भारत अब फिर से अपनी अखंडता को प्राप्त कर चुका है।

  1. भौगोलिक भारत

करोडों की जनसंख्या वाले भारत का कुल क्षेत्रफल 32,87,263 वर्ग किमी है। तीन तरफ से हमारी जमीन को सागरों से सुरक्षा मिली है, जहाँ हमारी जलसेना भी निरंतर चौकन्नी रहती है। नये-नये पर्यटन स्थलों का निर्माण किया जा रहा है, जिनमें स्टैच्यू ऑफ़ यूनिटी, शहीदों की स्मृति में मेमोरियल तथा अन्य कई जगह शामिल हैं।

वर्तमान भारत

अपने स्वर्णिम अतीत को एक खूबसूरत याद की तरह संजोकर ही न रखते हुए आज भी भारत उसी प्रकार विश्वगुरु बनने की ओर है। आज हर क्षेत्र में भारत की प्रगति को पंख दिये जा रहे हैं। विज्ञान और अध्यात्म, दोनों का उचित समन्वय करके जीवन के विकास में भारत अग्रणी है।

वर्तमान भारतीय सरकार भी देश की सुनहरी विरासत और जिम्मेदारी को आने वाली युवा पीढी को सौंपने के लिए तत्पर है। वर्तमान भारत का भविष्य उज्जवल है। यहाँ के युवाओं की शक्ति और सामर्थ्य से फिर से यह सारे संसार को आलोकित कर देगा।

निष्कर्ष

सारे संसार का भविष्य भारत के भविष्य से ही तय होगा, इसके प्रमाण के लिए आज विश्व मंच पर भारत की छवि और रूतबे को देखा जा सकता है। मेरे और आपके भारत को उन्नति के नये शिखरों पर फिर से उड़ान भरनी है, जहाँ से ये फिर से अपने विश्वगुरु के पद से संसार को मार्ग दिखाएगा। वसुधैव कुटुम्बकम्।


👉 यदि आपको “मेरा भारत महान हिंदी निबंध पर यह निबंध पसंद आया हो, तो इस निबंध को आप दोस्तों के साथ साझा करके उनकी मदद कर सकते हैं


👉 आप नीचे दिये गए सामाजिक मुद्दे और सामाजिक जागरूकता पर निबंध पढ़ सकते है तथा आप अपना निबंध साझा कर सकते हैं |

सामाजिक मुद्दे और सामाजिक जागरूकता पर निबंध
नयी शिक्षा नीति पर निबंधशिक्षित बेरोजगारी पर निबंध
जीना मुश्किल करती महँगाईपुरानी पीढ़ी और नयी पीढ़ी में अंतर
मानव अधिकार पर निबंधभारत में आतंकवाद की समस्या पर निबंध
भ्रष्टाचार पर निबंधजीवन में शिक्षा का महत्व पर निबंध

विनम्र अनुरोध:

इस तरह “मेरा भारत महान हिंदी निबंध (Mera Desh Bharat Mahaan Hindi Essay)” यहीं पूरा होता है। हमने अपना सर्वश्रेष्ठ देते हुए पूरी कोशिश की है कि इस हिंदी निबंध में किसी भी प्रकार की त्रुटि ना हो। फिर भी यदि आप को इस निबंध में कोई गलती दिखती है तो आप अपना बहुमूल्य सुझाव ईमेल के द्वारा दे सकते है। ताकि हम आपको निरन्तर बिना किसी त्रुटि के लेख प्रस्तुत कर सकें।

अपने दोस्तों को share करे:

Leave a Comment

X