📢 भारतीय स्वतंत्रता के 75 साल – Essay on 75 years of Indian Independence in Hindi
🔥 Join eWritingCafe Telegram for latest Essay topics
[Essay On 75th Independence Day Of India] [Azadi Ka Amrit Mahotsav Essay in English]

मेरा प्रिय खेल पर निबंध (Mera Priya Khel Essay In Hindi)

ajax loader

👀 मेरा प्रिय खेल पर निबंध (क्रिकेट) | मेरा प्रिय खेल-क्रिकेट पर निबंध | Mera Priya Khel Essay In Hindi पर लिखा हुआ यह निबंध आप को अपने स्कूल या फिर कॉलेज प्रोजेक्ट के लिए निबंध लिखने में सहायता कर सकता है। आपको हमारे इस वेबसाइट पर और भी कही विषयों पर हिंदी में निबंध मिलेंगे (👉 निबंध सूचकांक), जिन्हे आप पढ़ सकते है, तथा आप उन सब विषयों पर अपना निबंध लिख कर साझा कर सकते हैं

मेरा प्रिय खेल पर निबंध (Mera Priya Khel Essay In Hindi)
मेरा प्रिय खेल पर निबंध | Mera Priya Khel Essay In Hindi

मेरा प्रिय खेल पर निबंध
Mera Priya Khel Essay In Hindi
मेरा प्रिय खेल-क्रिकेट पर निबंध


🗣️ मेरा प्रिय खेल पर निबंध (क्रिकेट) | मेरा प्रिय खेल-क्रिकेट पर निबंध | Mera Priya Khel Essay In Hindi पर यह निबंध बच्चो (kids) और class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12, कॉलेज के विद्यार्थियों के लिए और अन्य विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए लिखा गया है।

प्रस्तावना

हम सभी के जीवन में खेल का महत्व बहुत अधिक है। खेल हमें शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ बनाने में सहायता करते हैं। मेरा नाम अमित है और मैं भी अपने मित्रों के साथ नियमित कुछ खेल खेलता हूँ। यूँ तो मुझे सभी खेल अच्छे लगते हैं, लेकिन क्रिकेट मेरा सबसे प्रिय खेल है। मुझे क्रिकेट मैच देखने से अधिक खेलने में रुचि हैं। इस खेल की शुरुआत अंग्रजों ने की थी। बाद में यह अन्य देशों में भी लोकप्रिय होता गया। आइये इस खेल के बारे में मेरे विचार और इसके सभी नियमों को समझते हैं।

मेरा प्रिय खेल पर निबंध (Mera Priya Khel Essay In Hindi) – क्रिकेट के मूल नियम

क्रिकेट के खेल में कई नियम होते हैं। बहुत सारे अनुभवी लोग सभी नियमों को खेल और खेल भावना के अनुरूप बनाने के प्रयास करते हैं। इन नियमों का पालन करना सभी खिलाड़ियों की कर्तव्य होता है। जिन मैदानों में खेल खेला जाता है उनका आकार लगभग समान होता है। दोनों टीमों को खेलने के लिये बराबर ओवर मिलते हैं। क्रिकेट मैचों के भी कई प्रकार होते हैं। जैसे टेस्ट मैचों में पाँच दिन, वनडे मैचों में पचास ओवर, और टी-20 मैचों में बीस ओवर का खेल होता है। एक ओवर में 6 गेंदें होती हैं।

एक टीम में कुल ग्यारह खिलाड़ी होते हैं, जिनमें बल्लेबाज, गेंदबाज, ऑलराउंडर और विकेटकीपर शामिल होते हैं। दोनों टीमों खिलाड़ी ज्यादा से ज्यादा रन बनाते हैं, और जिस टीम के रन अधिक होते हैं, वही टीम जीतती है। यदि किसी टीम के 10 खिलाड़ी आउट हो जाते हैं तो उस टीम की पारी वहीं समाप्त हो जाती हैं। आजकल नयी तकनीकों के आने से अंपायर को खेल के मुश्किल फैसले लेने में आसानी होती है। इन तकनीकों में उच्च गुणवत्ता के कैमरों, स्पीडोमीटर व लेजर आदि का उपयोग किया जाता है। क्रिकेट मैच में हो रहे खिलाडियों के खेल का वर्णन कमेंटेटर करता है, जिससे हम खेल के नियम बेहतर तरीके से समझ लेते हैं।


मेरा प्रिय खेल पर निबंध (Mera Priya Khel Essay In Hindi) – क्रिकेट मेरा पसंदीदा खेल क्यों?

मैं अपने दोस्तों के साथ एक खाली मैदान में क्रिकेट खेलने जाता हूँ और एक बल्लेबाज के तौर पर काफी निपुण हूँ। तेज गति से चौके-छक्के मारने में मुझे बहुत खुशी होती है। साथ ही मैं गेंदबाज के कौशल की भी प्रशंसा करता हूँ। हम सभी दोस्त इस खेल को मनोरंजन के तौर पर ही खेलते हैं। जो टीम अच्छी तरह खेलती है, वही जीतती है। यदि मैं कोई मैच हार जाता हूँ तो भी विजेता टीम को शुभकामनाएं देता हूँ। यही खेल का असली उद्देश्य भी है। मेरे प्रिय क्रिकेटर सचिन तेंदूलकर हैं। उन्हें क्रिकेट का भगवान भी कहा जाता है।

जब मैं घर लौटकर माता-पिता को अपने खेल के बारे में बताता हूँ तो वे मेरी प्रशंसा करते हैं। शिक्षकों ने भी मुझे पढ़ाई के साथ-साथ पर्याप्त क्रिकेट खेलने के लिये प्रोत्साहन दिया। इसीलिये मैं पढ़ाई पर भी पूरा ध्यान देता हूँ। अपने साथ खेलने वाले दोस्तों को भी मैं ठीक से पढ़ाई करने की भी सलाह देता हूँ। मेरे अच्छे खेल कौशल और खेल भावना के कारण पिताजी मुझे हमारे शहर की क्रिकेट अकेडमी में दाखिला दिलाने वाले हैं। अगर मैंने वहाँ अच्छे से अभ्यास किया तो मैं निश्चित ही अपना करियर क्रिकेट में ही बनाउंगा। अच्छा क्रिकेट खेलकर मैं एक दिन हमारी भारतीय क्रिकेट टीम में शामिल होकर अपना श्रेष्ठ प्रदर्शन करूंगा।


मेरा प्रिय खेल पर निबंध (Mera Priya Khel Essay In Hindi) – उपसंहार

आज कल क्रिकेट का खेल बहुत अधिक लोकप्रिय है। बहुत सारे वर्ल्ड टूर्नामेंट और होम टू्र्नामेंट होने से इसे काफी प्रसिद्धी मिली है। इस खेल में अच्छा प्रदर्शन करके इसमें अच्छा करियर बनाया जा सकता है। क्रिकेट से बहुत सारा पैसा भी कमा सकते हैं। लेकिन मैं मानता हूँ कि खेल भावना और खेलों का हमारे जीवन महत्व पैसे से अधिक होता है। इसीलिये मैं हमेशा धन से पहले खेल से मिलने वाली खुशी को प्रश्रय देता हूँ। 


👉 यदि आपको “मेरा प्रिय खेल पर निबंध (क्रिकेट) | मेरा प्रिय खेल-क्रिकेट पर निबंध | Mera Priya Khel Essay In Hindi पर लिखा हुआ यह निबंध पसंद आया हो, तो इस निबंध को आप दोस्तों के साथ साझा करके उनकी मदद कर सकते हैं


👉 आप नीचे दिये गए सामाजिक मुद्दे और सामाजिक जागरूकता पर निबंध पढ़ सकते है तथा आप अपना निबंध साझा कर सकते हैं |

सामाजिक मुद्दे और सामाजिक जागरूकता पर निबंध
नयी शिक्षा नीति पर निबंधशिक्षित बेरोजगारी पर निबंध
जीना मुश्किल करती महँगाईपुरानी पीढ़ी और नयी पीढ़ी में अंतर
मानव अधिकार पर निबंधभारत में आतंकवाद की समस्या पर निबंध
भ्रष्टाचार पर निबंधजीवन में शिक्षा का महत्व पर निबंध
Mera Priya Khel Essay In Hindi

विनम्र अनुरोध: 

आशा है आप इसे पढ़कर लाभान्वित हुए होंगे। आप से निवेदन है कि इस निबंध में आपको कोई भी त्रुटि दिखाई दे तो हमें ईमेल जरूर करे। हमें बेहद प्रसन्नता होगी तथा हम आपके सकारात्मक कदम की सराहना करेंगे। हम आपके लिये भविष्य में इसी प्रकार मेरा प्रिय खेल पर निबंध (Mera Priya Khel Essay In Hindi) की भाँति अन्य विषयों पर भी उच्च गुणवत्ता के सरल और सुपाठ्य निबंध प्रस्तुत करते रहेंगे।

यदि आपके मन में इस निबंध को लेकर कोई सुझाव है या आप चाहते हैं कि इसमें कुछ और जोड़ा जाना चाहिए, तो इसके लिए आप नीचे Comment सेक्शन में आप अपने सुझाव लिख सकते हैं आपकी इन्हीं सुझाव / विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मौका मिलेगा |

🔗 यदि आपको यह लेख मेरा प्रिय खेल पर निबंध (Mera Priya Khel Essay In Hindi) अच्छा लगा हो इससे आपको कुछ सीखने को मिला हो तो आप अपनी प्रसन्नता और उत्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को निचे दिए गए Social Networks लिंक का उपयोग करते हुए शेयर (Facebook, Twitter, Instagram, LinkedIn, Whatsapp, Telegram इत्यादि) कर सकते है | भविष्य में इसी प्रकार आपको अच्छी गुणवत्ता के, सरल और सुपाठ्य हिंदी निबंध प्रदान करते रहेंगे।

अपने दोस्तों को share करे:

Leave a Comment