📢 भारतीय स्वतंत्रता के 75 साल – Essay on 75 years of Indian Independence in Hindi
🔥 Join eWritingCafe Telegram for latest Essay topics
[Essay On 75th Independence Day Of India] [Azadi Ka Amrit Mahotsav Essay in English]

Short Essay on Pigeon in Hindi | कबूतर पर निबंध

ajax loader

Short Essay on Pigeon in Hindi | कबूतर पर निबंध
Short Essay on Pigeon in Hindi | कबूतर पर निबंध

👀 Short Essay on Pigeon in Hindi | कबूतर पर निबंध – कक्षा 1 से 4 के लिए निबंध” पर लिखा हुआ यह निबंध आप को अपने स्कूल या फिर कॉलेज प्रोजेक्ट के लिए निबंध लिखने में सहायता कर सकता है। आपको हमारे इस वेबसाइट पर और भी कही विषयों पर हिंदी में निबंध मिलेंगे (👉 निबंध सूचकांक), जिन्हे आप पढ़ सकते है, तथा आप उन सब विषयों पर अपना निबंध लिख कर साझा कर सकते हैं

Short Essay on Pigeon in Hindi
कबूतर पर निबंध – कक्षा 1 से 4 के लिए निबंध
हिंदी में कबूतर पर लघु निबंध

🎃 Essay on Pigeon in Hindi | कबूतर पर निबंध कक्षा 1 से 4 के  विद्यार्थियों के लिए और अन्य विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए लिखा गया है।

सामान्य परिचय :

कबूतर पूरे विश्व में पाये जाने वाला एक सुंदर पक्षी है जिससे हम सभी भली-भाँति परिचित हैं। मेसोपोटामिया सभ्यता में पाये गये अवशेषों के अनुसार कबूतर 5000 से भी अधिक वर्षों से मानवों के साथ रह रहे हैं। युद्ध में सहायता करने के लिए कुछ कबूतरों को पुरस्कृत और सम्मानित भी किया जा चुका है। कुछ लोग इनको पालतू पक्षियों के रूप में भी पालते हैं।

Short Essay on Pigeon in Hindi | कबूतर पर निबंध – कबूतर की बनावट :

कबूतर प्रायः सफेद और भूरे रंग के होते हैं परंतु कई देशों में कबूतर अन्य रंगों में भी देखे जा सकते हैं। कबूतर एक मध्यम आकार का गोल-मटोल पक्षी होता है जिसके पूरा शरीर पंखों के आवरण से ढ़का रहता है। इसकी चोंच नुकीली होती है जिसकी सहायता से यह विभिन्न वस्तुओं को पकड़ सकता है। कबूतर के पैर लाल या गुलाबी रंग के होते हैं। इनके दोनों पैरों में तीन-तीन उँगलियाँ होती हैं जिनमें से दो उँगलियाँ आगे और एक पीछे की तरफ होती है।

Short Essay on Pigeon in Hindi | कबूतर पर निबंध – कबूतर का भोजन :

कबूतर भोजन में दालें, अनाज के दाने, मेवे, पत्तियाँ, फल इत्यादि खाना पसंद करता है।

Short Essay on Pigeon in Hindi | कबूतर पर निबंध – कबूतर की विशेषताएँ :

◆ कबूतर बहुत अधिक ऊँचाई पर उड़ सकते हैं।

◆ नए स्थान पर छोड़ देने पर भी ये 1000 किलोमीटर तक की दूरी से वापस अपने घर आ सकते हैं।

◆ इनकी सुनने की क्षमता विलक्षण होती है।

◆ ये अपनी तेज़ नज़र से काफी दूर की चीजें भी देख सकते हैं।

◆ ये मौसम और प्राकृतिक आपदाओं का पूर्वानुमान लगाने में सक्षम होते हैं।

◆ कबूतर की स्मृति बहुत तेज़ होती है। ये इंसानों के चेहरे याद रख सकते हैं।

◆ कबूतर अपने कंठ से गुटर-गूँ की आवाज निकालते हैं।

◆ सफेद कबूतर को शांति का प्रतीक माना जाता है।

Short Essay on Pigeon in Hindi | कबूतर पर निबंध – कबूतरों में प्रजनन :

कबूतर प्रायः हमारे खेतों, घरों और आँगनों में देखने को मिल जाते हैं। ये पेड़ों और घरों में तिनके एकत्रित करके अपना घोंसला बनाते हैं।

कबूतर एक चक्र में 1 से 3 तक अंडे दे सकते हैं। इनके चूजों को पालने की जिम्मदारी नर और मादा दोनों मिलकर निभाते हैं। ये बड़े होने से पहले अपने बच्चों को घोंसले से बाहर नहीं निकलने देते और अपने अंडे एवं चूजों के लिए अत्यधिक संवेदनशील होते हैं। इनके अंडों को यदि कोई नुकसान पहुँचाता है तो ये घात लगाकर उसका पीछा करते हैं और बदला लेने का प्रयास करते हैं।

एक सामान्य कबूतर का जीवनकाल लगभग 15 वर्ष का होता है।

कबूतर की उपयोगिता :

पुरातन काल से ही मानव कबूतरों का प्रयोग विभिन्न कार्यों के संपादन हेतु करता रहा है जिनमें से कुछ अग्रलिखित हैं – 

◆ भोजन के रूप में

◆ प्राचीन काल की पवित्र रस्मों में 

◆ संदेश वाहक के रूप में

◆ युद्ध में गुप्त संदेश पहुँचाने हेतु

◆ पालतू पक्षी के रूप में

◆ संज्ञानात्मक प्रयोगशाला में

Short Essay on Pigeon in Hindi | कबूतर पर निबंध – कबूतरों से होने वाली समस्याएँ :

कबूतर किसी भी चलते राहगीर या सामान पर मलत्याग कर देते हैं जिससे गंदगी और असुविधा हो जाती है। इनके कारण संक्रामक रोगों का प्रसार भी हो सकता है।

अतः इनको कुछ लोग गंदगी फैलाने और संपत्ति को नुकसान पहुँचाने वाले अतिक्रमणकारियों के रूप में देखते हैं।

निष्कर्ष –

उक्त सभी तथ्यों से पता चलता है कि कबूतर अत्यंत समझदार पक्षी है जो आबादी वाले इलाकों में इंसानों के आस-पास रहना पसंद करता है।

कुछ लोग जिज्ञासा या लालच में कबूतरों की क्रॉस ब्रीडिंग करा देते हैं जो इनके लिए हानिकारक है। ऐसे अप्राकृतिक कृत्यों से हमें बचना चाहिये।

👉 आप नीचे दिये गए छुट्टी पर निबंध पढ़ सकते है और आप अपना निबंध साझा कर सकते हैं |

छुट्टी पर निबंध
लॉकडाउन में मैंने क्या किया पर निबंधछुट्टी का दिन पर निबंध
गर्मी की छुट्टी पर निबंधछुट्टी पर निबंध
ग्रीष्म शिविर पर निबंधगर्मी की छुट्टी के लिए मेरी योजनाएँ पर निबंध
Short Essay on Pigeon in Hindi | कबूतर पर निबंध


विनम्र अनुरोध: 

आशा है आप इसे पढ़कर लाभान्वित हुए होंगे। आप से निवेदन है कि इस निबंध में आपको कोई भी त्रुटि दिखाई दे तो हमें ईमेल जरूर करे। हमें बेहद प्रसन्नता होगी तथा हम आपके सकारात्मक कदम की सराहना करेंगे। हम आपके लिये भविष्य में इसी प्रकार “Essay on Pigeon in Hindi | कबूतर पर निबंध” की भाँति अन्य विषयों पर भी उच्च गुणवत्ता के सरल और सुपाठ्य निबंध प्रस्तुत करते रहेंगे।

यदि आपके मन में इस निबंध को लेकर कोई सुझाव है या आप चाहते हैं कि इसमें कुछ और जोड़ा जाना चाहिए, तो इसके लिए आप नीचे Comment सेक्शन में आप अपने सुझाव लिख सकते हैं आपकी इन्हीं सुझाव / विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मौका मिलेगा |


🔗 यदि आपको यह लेख अच्छा लगा हो इससे आपको कुछ सीखने को मिला हो तो आप अपनी प्रसन्नता और उत्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को निचे दिए गए Social Networks लिंक का उपयोग करते हुए शेयर (Facebook, Twitter, Instagram, LinkedIn, Whatsapp, Telegram इत्यादि) कर सकते है | भविष्य में इसी प्रकार आपको अच्छी गुणवत्ता के, सरल और सुपाठ्य हिंदी निबंध प्रदान करते रहेंगे।

अपने दोस्तों को share करे:

Leave a Comment