📢 भारतीय स्वतंत्रता के 75 साल – Essay on 75 years of Indian Independence in Hindi
🔥 Join eWritingCafe Telegram for latest Essay topics
🔥 An Essay on Holi Festival in English

विद्यार्थी और अनुशासन पर निबंध

👀 विद्यार्थी और अनुशासन पर निबंध पर लिखा हुआ यह निबंध (vidyarthi aur anushasan in hindi essay) आप को अपने स्कूल या फिर कॉलेज प्रोजेक्ट के लिए निबंध लिखने में सहायता कर सकता है। आपको हमारे इस वेबसाइट पर और भी कही विषयों पर हिंदी में निबंध मिलेंगे (👉 निबंध सूचकांक), जिन्हे आप पढ़ सकते है, तथा आप उन सब विषयों पर अपना निबंध लिख कर साझा कर सकते हैं

विद्यार्थी और अनुशासन पर निबंध व अनुच्छेद


प्रस्तावना

मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है जो अपना पूरा जीवन समाज के बीच ही व्यतीत करता है। समाज में रहने के लिए यह जरूरी है कि हर व्यक्ति अनुशासन का पालन करे क्योंकि कहते हैं कि जो व्यक्ति अनुशासित नहीं है वो कहीं न कहीं जंगली जानवर के समान होता है। अनुशासन जीवन में उसी प्रकार जरूरी होता है जिस प्रकार घोड़े के लिए लगाम। अगर घोड़े की लगाम हट जाए तो वह बेकाबू होकर विनाश कर सकता है, उसी तरह व्यक्ति के साथ भी होता है। विद्यार्थी जीवन में तो अनुशासन का महत्व और ज्यादा बढ़ जाता है क्योंकि यही वह समय होता है जब विद्यार्थी समझता है कि अनुशासित होना क्यों और कितना आवश्यक है। 

अनुशासन

बहुत से लोगों को अनुशासन का सही मतलब नहीं पता होता है।बहुत लोग समझते हैं कि अनुशासन का मतलब कड़े नियमों में बंधे रहना होता है, लेकिन ऐसा नहीं है। अनु+शासन अर्थात अपने ऊपर शासन करना तथा उस शासन के अनुसार अपने जीवन को चलाना ही अनुशासन है। इसके अलावा जरूरी नियमों का पालन करते हुए और बिना किसी को कष्ट पहुंचाए आप अपने काम एक निश्चित समय पर करना भी अनुशासन के अंतर्गत आता है। यही नियम और शर्तें विद्यार्थियों के जीवन में भी लागू होती हैं जो उन्हें मेहनती और नियमबद्ध बनाती हैं। इसीलिए यह बहुत जरूरी है कि सभी अपने विद्यार्थी जीवन में अनुशासन का पूरा पालन करें।

विद्यार्थी जीवन में अनुशासन की आवश्यकता

एक विद्यार्थी के जीवन में अनुशासन बहुत जरूरी होता है। उसकी मेहनत के अलावा एक अनुशासन भी होता है जो उसे सफल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। स्कूली शिक्षा के अतिरिक्त जीवन और समाज की शिक्षा में भी अनुशासन सहायता करता है। अनुशासन में रहने वाले विधार्थी हमेशा अपने काम के प्रति जागरूक रहते हैं और हर काम समय पर पूरा कर लेते हैं, जिसकी वजह से सब उन्हें पसंद करते हैं और उन्हें आगे बढ़ने के कई अवसर मिलते हैं। इसीलिए कहा जाता है कि विद्यार्थी जीवन में जितना अधिक अनुशासन का पालन किया जाता है, आगे चलकर जीवन में उसे उतनी ही अधिक सफलता मिलती है। अतः विद्यार्थी के जीवन में अनुशासन बहुत आवश्यक होता है।

उपसंहार

जो बच्चे अपने विद्यार्थी जीवन में अनुशासन को अपने जीवन में उतारते हैं, वो बहुत ही जल्दी सफल होते हैं क्योंकि भगवान भी उसी का साथ देते हैं जो खुद अनुशासन में रहकर हर कार्य करता है। अनुशासन एक ऐसा गुण है जिसे केवल विद्यार्थियों को ही नहीं बल्कि हर छोटे-बड़े व्यक्ति को अपनाना चाहिए।  अनुशासन से समाज में और अधिक सम्मान मिलता है क्योंकि एक अनुशासित व्यक्ति और छात्र समाज में सभी के लिए एक उदाहरण के समान होता है। इसीलिए यह बहुत आवश्यक है कि सदैव अनुशासन का पालन किया जाए।


👉 यदि आपको “विद्यार्थी और अनुशासन पर निबंध” पर यह निबंध पसंद आया हो, तो इस निबंध को आप दोस्तों के साथ साझा करके उनकी मदद कर सकते हैं


👉 आप नीचे दिये गए छुट्टी पर निबंध पढ़ सकते है और आप अपना निबंध साझा कर सकते हैं |

छुट्टी पर निबंध
लॉकडाउन में मैंने क्या किया पर निबंधछुट्टी का दिन पर निबंध
गर्मी की छुट्टी पर निबंधछुट्टी पर निबंध
ग्रीष्म शिविर पर निबंधगर्मी की छुट्टी के लिए मेरी योजनाएँ पर निबंध
अपने दोस्तों को share करे:

Leave a Comment

X